scriptmonsoon prediction : शनि की चाल वक्री, बना नवंबर तक भारी वर्षा का योग | monsoon prediction : Saturn's movement is retrograde, heavy rains are expected till November | Patrika News
जबलपुर

monsoon prediction : शनि की चाल वक्री, बना नवंबर तक भारी वर्षा का योग

monsoon prediction : शनि की चाल वक्री, बना नवंबर तक भारी वर्षा का योग

जबलपुरJul 03, 2024 / 12:29 pm

Lalit kostha

monsoon prediction

monsoon prediction

जबलपुर. मानव जीवन पर व्यापक असर डालने वाले शनि ग्रह की चाल 29 जून की रात से उल्टी (वक्रीय) हो गई है। 139 दिनों तक शनिदेव वक्रीय चाल चलेंगे। ज्योतिषाचार्यों का मानना है कि स्वयं की राशि कुभ में ही शनिदेव की वक्रीय गति होने से विभिन्न प्राकृतिक, न्यायिक, प्रशासनिक, राजनीतिक और आर्थिक परिवर्तन होगे। नवंबर तक भारी बारिश के योग भी बन रहे हैं।
ग्रहों की चाल का फेर, ज्योतिषाचार्यों के अनुसार राजनीतिक और न्यायिक उथलपुथल के संकेत

न्यायिक क्षेत्र में हो सकता है बदलाव

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार शनि 20 जनवरी 2023 से अपनी राशि कुभ में चल रहे हैं । उनके अपनी ही राशि में वक्री होने से न्याय से जुड़े क्षेत्र में परिवर्तन की स्थिति बनती है। कई परिवर्तन न्याय प्रणाली में इन दिनों दिखाई भी दिए भी हैं। इसका शुरुआती प्रभाव भारतीय दंड संहिता के सबंध में हुए संशोधन के रूप में लिया जा सकता है।
15 नवंबर को होंगे मार्गी

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार शनिदेव की वक्री चाल 139 दिन रहेगी। आमतौर पर वे पांच माह तक वक्री रहते हैं। 15 नवंबर को शाम 7.50 बजे से फिर से कुंभ राशि में ही मार्गी यानी सीधी चाल चलेंगे। वैदिक ज्योतिष में शनि ग्रह को विशेष स्थान प्राप्त है। यह सौरमंडल में बृहस्पति के बाद दूसरा सबसे बड़ा और धीमी गति से चलने वाला ग्रह है। इसकी उल्टी चाल के गहरे प्रभाव होते हैं।
कार्पोरेट जगत में उतार चढ़ाव का योग

शनि के वक्रीय काल का कॉरपोरेट जगत में बड़ा प्रभाव माना जाता है। कीमतों में उतार-चढ़ाव, लाभ-हानि की स्थिति भी इनके वक्रीय मार्गी से संबंधित होती है। ऑटोमोबाइल सेक्टर, वीकल एक्ट में भी परिवर्तन नजर आएगा। कपड़ा, लकड़ी, लोहा, तेल, रासायनिक पदार्थ भी प्रभावित होंगे। राजनीतिक क्षेत्र में भी उथलपुथल की स्थिति बनेगी।
नवबर तक वर्षा के योग

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, वक्रीय होने पर शनि सामान्य स्थिति की तुलना में अधिक शक्तिशाली और प्रभावशाली हो जाते हैं। इसके सकारात्मक व नकारात्मक परिणाम होते हैं। इस बार शनि की वक्रीय गति का प्रभाव भारी वर्षा के रूप में सामने आ सकता है। नवबर तक लगातार वर्षा के योग बन रहे हैं।

Hindi News/ Jabalpur / monsoon prediction : शनि की चाल वक्री, बना नवंबर तक भारी वर्षा का योग

ट्रेंडिंग वीडियो