scriptMore deaths from breast cancer in India due to lack of awareness | स्तन कैंसर से बच सकती है जान, अगर करें ये उपाय... | Patrika News

स्तन कैंसर से बच सकती है जान, अगर करें ये उपाय...

-जानें कैंसर विशेषज्ञों का क्या है सुझाव

जबलपुर

Updated: October 29, 2021 11:03:29 am

जबलपुर. स्तन कैंसर जानलेवा बीमारी है, लेकिन इससे भी जान बचाई जा सकती है। लेकिन इसके लिए सबसे जरूरी है जागरूकता। जागरूकता के अभाव में ज्यादातर महिलाओं की मौत हो जाती है। देश में स्तन कैंसर से होने वाली मौत का ग्राफ लगातार ऊपर की ओर बढ़ रहा है। विशेषज्ञों का कहना है कि जागरूकता के अभाव में 60 फीसद महिलाओं की इससे मौत हो रही है।
breast cancer (symbolic photo)
breast cancer (symbolic photo)
बता दें कि अक्टूबर महीना स्तन कैंसर जागरूता माह के रूप में मनाया जाता है। इसी के तहत मेडिकल कॉलेज जबलपुर में गुरुवार को जागरूकता कार्यकर्म आयोजित किया गया। इस मौके पर कैंसर विशेषज्ञों ने बताया कि स्तन कैंसर भारत में एक महामारी का रूप लेता जा रहा है। यह एक ऐसा कैंसर है जिसका प्रारंभिक अवस्था में पता लगाकर इलाज किया जाए तो ये पूरी तरह ठीक हो सकता है। विशेषज्ञों का कहना था कि भारत में 60 फीसद महिलाओं की मौत स्तन कैंसर से हो रही है, जबकि जबकि विकसित देशों में 100 में से महज दो मरीज की ही मौत होती है। विशेषज्ञ बताते हैं कि भारत में स्तन कैंसर से होने वाली मौत के लिए जिम्मेदार जागरूकता का अभाव है।
मेडिकल कॉलेज जबलपुर में आयोजित जागरूकता कार्यक्र में 250 से ज्यादा नर्सिंग छात्र- छात्राओं को विस्तार से स्तन कैंसर से संबंधित जानकारी दी गई। मसलन, स्तन कैंसर क्या है, कैसे होता है और कैसे इसको प्रारंभिक अवस्था में जाना जा सकता है।
इस अवसर पर डीन प्रो पी के कसार ने बताया की कैंसर से केवल मरीज नही अपितु पूरा परिवार प्रभावित होता है। प्रो दीप्ति शर्मा ने स्तन परीक्षण की विधि बताई जिससे इसको आसानी से पहचान सकते हैं। डा अर्पण मिश्रा ने इसकी जांच से संबंधित जानकारी दी। डा संजय कुमार यादव ने स्तन कैंसर के उपचार के बारे में बताया।
विशेषज्ञों का कहना है कि भारत में स्तन कैंसर के बढ़ने के पीछे जानकारी की कमी भी एक बड़ी वजह है। खासकर, ग्रामीण इलाकों में महिलाओं में इसे लेकर जरा भी जागरूकता नहीं है। स्तन कैंसर की शुरूआत में स्तन में एक गांठ बनती है। अगर जैसे ही गांठ समझ में आए उसी वक्त कैंसर विशेषज्ञ से संपर्क किया जाए और समय रहते उस गांठ को हटा दिया जाए तो स्तन कैंसर की समस्या पैदा ही नहीं हो सकती। लेकिन ग्रामीण ही नहीं शहरी महिलाएं भी उस पर ध्यान नहीं देतीं और जब गांठ की कोशिकाएं बढ़ कर ट्यूमर का रूप ले लेती हैं तो महिलाएं इलाज के लिए आती हैं।
विशेषज्ञ बताते हैं कि स्तन कैंसर के चार स्टेज होते हैं। कई मामलों में पूरे स्तन को काट कर अलग कर दिया जाता है, साथ ही लिम्फ नोड्स और छाती की मांसपेशियों को भी काट कर हटा दिया जाता है। इससे महिलाओं का फिगर तो बिगड़ जाता है, पर जान बच जाती है। विशेषज्ञों का कहना है कि पहले स्टेज में 80 फीसदी मरीजों को बचाया जा सकता है, वहीं बीमारी के दूसरे स्टेज में 60-70 फीसदी महिलाओं का सफल इलाज संभव है। लेकिन तीसरे व चौथे स्टेज में इलाज बेहद कठिन हो जाता है, क्योंकि तब तक कैंसर की कोशिकाएं काफी फैल चुकी होती हैं।
जानकार बताते हैं कि महिलाएं खुद अपने स्तन की जांच कर सकती हैं कि कहीं गांठ तो नहीं बन रही है। स्तन सख्त तो नहीं हो रहा। साथ ही इस पर भी गौर किया जाना चाहिए कि निप्पल्स के आकार में बदलाव तो नहीं हो रहा है। स्तन में दर्द होना और बांहों के नीचे गांठ होने पर भी स्तन कैंसर होने की संभावना हो सकती है। अगर ऐसा हो तो बिना देर किए डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।
महिलाओं को यह भी ध्यान रखना चाहिए कि उनका वजन ज्यादा न बढ़े। इसके अलावा शराब, धू्म्रपान और तंबाकू के सेवन से बचें। समय पर गर्भधारण करें और शिशु को कम से कम 6 महीने तक स्तनपान कराएं। इससे स्तन कैंसर होने की संभावना नहीं के बराबर रहती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

SC-ST को आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, राज्य तय करें प्रमोशन का पैमानामहाराष्ट्रः सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी के 12 विधायकों का निलंबन असंवैधानिक बताते हुए रद्द कियाBrahMos Missiles: भारत से ब्रह्मोस मिसाइल खरीद रहा फिलीपींस, 37.5 करोड़ डॉलर की डील पर लगी मुहरData Privacy Day: सस्ता स्मार्टफोन इस्तेमाल करना पड़ सकता है महंगा, एक्सपर्ट ने बताई वजहNeoCov: ओमिक्रॉन के बाद सामने आया कोरोना का नया वैरिएंट 'नियोकोव' और भी खतरनाकसुभासपा ने जारी की तीन उम्मीदवारों की लिस्ट, राजभर का दावा- हमारे निशान पर सपा प्रत्याशी लड़ेगा चुनावएनसीसी रैली में बोले पीएम मोदी- महिलाओं को सेना में मिल रही बड़ी जिम्मेदारियांUP Election 2022: नफरत फैलाने के आरोप में सपा प्रत्याशी पर मामला दर्ज
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.