तपा शहर, जनजीवन अस्त-व्यस्त

तपा शहर, जनजीवन अस्त-व्यस्त
Temperature

Sanjay Umrey | Publish: Jun, 01 2019 11:00:00 AM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

- 46.8 डिग्री रेकॉर्ड तापमान
- इससे पहले 1954 में अधिकतम तापमान 46.7 डिग्री सेल्सियस रहा

जबलपुर। जबलपुर में जहां गर्मी के सीजन में औसतन अधिकतम तापमान 44 से 45 डिग्री के बीच ही रहता था। इस गर्मी में तापमान ने बढ़त के रेकॉर्ड तोड़ दिए। नौतपा के सातवें दिन पारा 47 डिग्री सेल्सियस के करीब पहुंच गया। शुक्रवार को अधिकतम तापमान 46.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। तापमान बढऩे से शहर भ_ी जैसा तपा। हालांकि, बादलों की दस्तक होने से धूप से कुछ राहत मिली, लेकिन उमस ने बेहाल कर दिया। भीषण गर्मी में इंसानों के साथ ही पशु-पक्षी बेहाल हो गए। मौसम विभागने जबलपुर सम्भाग में अगले 48 घंटों के दौरान लू चलने की चेतावनी दी है।
मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार को सुबह से ही तापमान में उछाल था। सुबह 8.30 बजे अधिकतम तापमान 35.4 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया था। दोपहर 12.30 बजे जैसे ही तापमान ने 43 डिग्री सेल्सियस के आंकड़े को पार किया। बादलों की दस्तक होने लगी। तेज धूप के बीच कुछ देर बादल छा रहे थे। शुक्रवार को अधिकतम तापमान सामान्य से 6 डिग्री ज्यादा था। न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 29.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया। सुबह की आद्र्रता 34 और शाम की आद्र्रता 15 प्रतिशत थी। मौसम शुष्क होने के कारण रात में तापमान में गिरावट होने की रफ्तार काफी धीमी रही। गर्मी के कारण कूलर-पंखे की हवा से राहत नहीं मिली।
उमस से नींद में खलल
तापमान बढऩे के साथ ही उमस के कारण लोगों की रात की नींद भी प्रभावित हुई। लोग देर रात तक सडक़ों पर टहलते रहे।
हो सकती है बारिश
मौसम विभाग के अनुसार तापमान बढऩे के कारण बादलों की दस्तक से लोकल सिस्टम सक्रिय हो सकता है। इससे बारिश भी हो सकती है।
इन वर्षों में 45 डिग्री से अधिक हुआ
वर्ष - अधिकतम तापमान- दिनांक
1988- 45.9- 20 मई
1994- 46- 1 जुलाइ
1995- 45.9- 3 जुलाई
1998- 45.9- 28 जुलाई
2003- 46- 4 जुलाई
2005- 45.2- 22 मई
2014- 45.7- 7 जुलाई
2015- 45.2- 19 मई
2018- 45.3- 29 मई

लू की स्थिति बनी
शुक्रवार को जबलपुर का तापमान प्रदेश में सर्वाधिक था। जबलपुर में पहली बार लू की स्थिति उत्पन्न हुई है। आने वाले दो से तीन दिनों के अंतराल में जबलपुर सहित कुछ क्षेत्रों में बारिश हो सकती है। लेकिन, गर्मी की स्थिति ऐसी ही बनी रहने की संभावना है।

डॉ. वेदप्रकाश सिंह, राडार प्रमुख मौसम विज्ञान केंद्र भोपाल

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned