सरकारी क्षेत्र में शिक्षित युवा बेरोजगारों के लिए घटने लगी नौकरियां, ये है चौंकाने वाला आंकड़ा

हर साल हजारों की तादाद में नगर व ग्रामीण क्षेत्रों के बेरोजगार युवा पंजीयन कराते हैं

By: balmeek pandey

Published: 01 Jun 2017, 06:59 PM IST

जबलपुर। शहर के शिक्षित युवा बेरोजगारों के लिए सरकारी क्षेत्र में नौकरियां घटने लगी हैं। जबकि निजी क्षेत्रों में बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर मिले हैं। जिला रोजगार कार्यालय के आंकड़े यही दर्शा रहे हैं। यहां हर साल हजारों की तादाद में नगर व ग्रामीण क्षेत्रों के बेरोजगार युवा पंजीयन कराते हैं। इनमें से ज्यादातर नौकरी के लिए भटकते रहते हैं। जिला रोजगार कार्यालय में बेरोजगार युवाओं का ऑन लाइन पंजीयन होता है। कार्यालय सरकारी व निजी क्षेत्र में निकलने वाले पदों पर योग्यता के आधार पर नियुक्ति में सहयोग करता है। शासकीय विभाग और निजी कम्पनियां भी योग्यता के अनुरूप कर्मचारियों की भर्ती के लिए कार्यालय को भी सूचना देते हैं। केन्द्र सरकार के तीन वर्षों में विभाग के आंकड़ों के मुताबिक सरकारी क्षेत्र में नौकरियों के मामले में गिरावट आई है।



टेक्सटाइल्स उभरता हुआ क्षेत्र
निजी क्षेत्रों में रोजगार के अवसर बढे़ हैं। इनमें 50 फीसदी रोजगार केवल टेक्सटाइल्स में मिला है। कर्मचारियों की सबसे अधिक मांग भी इसी क्षेत्र में है। महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली और दक्षिण के कुछ राज्यों में इस क्षेत्र में अवसर बढे़ हैं। दूसरा बड़ा क्षेत्र सुरक्षा है। करीब 20 फीसदी पद सुरक्षा क्षेत्र में भरे जाते हैं। शेष इन्फॉरमेशन, टेक्नोलॉजी, बीमा व सिविल कन्स्ट्रक्शन क्षेत्र से जुड़ते हैं।


इनका कहना है
सरकारी क्षेत्र में नौकरियों के अवसर कम आते हैं, इसलिए ज्यादातर पंजीकृत युवाओं को रोजगार नहीं मिल सका है। पिछले तीन साल में इसमें कमी आई है। निजी क्षेत्र में संभावनाएं बढ़ रही हैं। जॉब फेयर के माध्यम से काफी लोगों को रोजगार मिला है।
एमएस मरकाम, डिप्टी डायरेक्टर, जिला रोजगार कार्यालय
Show More
balmeek pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned