पुलिस ने इस कुख्यात अपराधी पर घोषित किया इनाम, कुछ घंटे बाद ही एसटीएफ ने किया गिरफ्तार, जानकर रह जाएंगे हैरान

पुलिस ने इस कुख्यात अपराधी पर घोषित किया इनाम, कुछ घंटे बाद ही एसटीएफ ने किया गिरफ्तार, जानकर रह जाएंगे हैरान

Deepankar Roy | Publish: Dec, 08 2017 11:35:15 AM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

अपहरण, हत्या के प्रयास सहित कई संगीन मामलों में है आरोपी

जबलपुर। पुलिस अधीक्षक ने गुरुवार को कई संगीन मामलों में लंबे अरसे से फरार चल रहे आरोपियों को पकडऩे के लिए इनाम घोषित किया। इसके कुछ देर बाद ही एसटीएफ अपहरण, हत्या के प्रयास जैसे गंभीर मामले के एक आरोपित को पकड़ लायी। हैरान करने वाली बात ये है कि खुलेआम फायरिंग कर चुका ये बदमाश लंबे समय से फरार था। उस पर कई अपराधिक प्रकरण दर्ज थे। उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस कई बार दबिश दे चुकी थी। लेकिन वह हर बार पुलिस को चकमा देकर भाग जाता था। लेकिन जैसे ही इनाम की घोषणा हुई उसके महज कुछ घंटे के अंदर ही जिला पुलिस की टीम को पीछे छोड़ते हुए एसटीएफ की टीम ने आरोपित मोहम्मद जाफिर को दबोच लिया।

प्रेम सागर से किया अपहरण
पुलिस के अनुसार गिरफ्तार आरोपित मोहरिया निवासी मोहम्मद जाफिर ने 21 नवंबर को प्रेम सागर निवासी मनोज चौधरी का बबलू पंडा ने साथी अमित तिवारी, जाफिर खान, पुष्पेन्द्र बिहारी, अमदीप चौधरी, अर्जुन साहू समेत अन्य के साथ अपहरण किया था। अपहरणकर्ताटों के चंगुल से छूटने के बाद दूसरे मनोज ने अपने साथियों के साथ मिलकर जाफिर के पैर पर गोली मार दी थी। अस्पताल में भर्ती जाफिर पर जैसे ही अपहरण का मुकदमा दर्ज हुआ उसके बाद वह अस्पताल से फरार हो गया। इस मामले में पुलिस लंबे समय से आरोपित की तलाश कर रही थी। लेकिन उसकी गिरफ्तारी नहीं होने पर गुरुवार को एसपी ने जाफिर पर 10 हजार रुपए का ईनाम घोषित किया।

होटल के पीछे ले जाकर किए फायर
पुलिस के अनुसार आरोपित मनोज का अपहरण करके उसे तिलहरी स्थित डॉलफिन होटल के पीछे एक फॉर्म हाउस में ले गए, जहां उसे जातिगत रूप से अपमानित किया। उससे मारपीट की और उस पर दनादन फायर किए, जिसमें वह बच गया। माफी मांगने पर आरोपित उसे गौर चौराहे पर छोड़कर भाग निकले। मनोज की शिकायत पर पुलिस ने आरोपितों पर अपहरण और मारपीट व फायरिंग कर हत्या की कोशिश का मामला दर्ज किया था। बबलू समेत पुष्पेन्द्र, आशीष और अनिल को गिरफ्तार किया जा चुका है।

इन्होंने किया गिरफ्तार
अपहरण और फायरिंग के मामले में जाफिर समेत अमित तिवारी, चंदन ठाकुर, अर्जुन और नीरज पर भी पुलिस ने दस-दस हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया। लेकिन अभी बाकी के ईनामी आरोपित फरार है। जाफिर को एसटीएफ निरीक्षक हरिओम दीक्षित, एएसआई विशाल सिंह, मनीष तिवारी, छत्रपाल, वीनू वर्गीस, लेखन लोधी समेत अन्य की टीम ने पकड़ा किया है। उसे उस वक्त गिरफ्तार किया गया, जब वह शहर छोड़कर भागने की फिराक में था।

इन सात फरार आरोपितों पर भी इनाम
अधारताल के दहेज हत्या के मामले में खिरिया गांव निवासी उमेश पटेल, उसके पिता मेवालाल व मां ममता पटेल पर तीन-तीन हजार रुपए।
सिविल लाइंस में दुराचार के मामले में फरार इलाहाबाद निवासी मोहम्मद शमीम पांच हजार रुपए।
गढ़ा के दुराचार के मामले में फरार बाजानामठ निवासी मनीष जैन पर पांच हजार रुपए।
ओमती के धोखाधड़ी के मामले में फरार कचनार संभार निवासी जीवनलाल सेन पर पांच हजार रुपए।
गोराबाजार के छेड़खानी के मामले में फरार बिलहरी निवासी राकेश यादव पर तीन हजार रुपए का इनाम घोषित।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned