कोर्ट में मां ने लगाई गुहार, बोली- बेटे-पोते ने हड़प लिए पति की पेंशन के 21 लाख रुपए

कोर्ट में मां ने लगाई गुहार, बोली- बेटे-पोते ने हड़प लिए पति की पेंशन के 21 लाख रुपए
हाईकोर्ट ऑर्डर

Abhishek Dixit | Updated: 06 Oct 2019, 12:30:00 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

जिला कोर्ट ने दिया प्रकरण दर्ज करने का आदेश

जबलपुर. 'माय लॉर्ड, मेरे पुत्र व पोते ने ही मेरे विश्वास का गला घोंट दिया। दिवंगत पति के पेंशन एकाउंट में जमा 21 लाख रुपए निकालकर हड़प लिए। मांगने पर घर से निकाल दिया।' जिला अदालत में 83 वर्ष की विकलांग वृद्धा ने परिवाद पेश कर यह गुहार लगाई। जेएमएफसी अमरदीप सिंह छावड़ा की अदालत ने परिवाद पर गंभीरता दिखाई। अदालत ने पिता-पुत्र के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रक रण दर्ज कर उन्हें 9 नवंबर क ो हाजिर होने को कहा।

यह है मामला
गोरखपुर निवासी संतप्यारी मरचंदा की ओर से यह परिवाद दायर कर कहा गया कि उसके पति आरसी मरचंदा सर्वे ऑफ इंडिया में कार्यरत थे। 1988 में उन्होंने ऐच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली। रिटायरमेंट के समय उनके बैंक खाते में 21 लाख रुपए से अधिक रकम जमा थी। इसके अलावा उन्हें करीब 40 हजार रुपए प्रतिमाह पेंशन भी मिलती थी। अधिवक्ता अमन शर्मा ने तर्क दिया कि 2 नवंबर 2018 को परिवादी के पति का लंबी बीमारी के बाद देहांत हो गया। उनके संस्कार के लिए परिवादी ने अपने पुत्र श्रीचंद मरचंदा को पति के पेंशन खाते की पासबुक देकर एक लाख रुपए निकालने को कहा। उसके पुत्र श्रीचंद व पोते विवेक ने फर्जीवाड़ा कर खाते में से 21 लाख रुपए से अधिक रकम निकाल ली। खाते में महज 44 पैसे बचे थे, तब उन्हें पासबुक वापस की गई। निकाली गई रक म मांगने पर आरोपितों ने उसे घर से निकाल दिया। मामले की शिकायत गोरखपुर थाने व एसपी से भी की गई। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। इसलिए अदालत की शरण लेनी पड़ी। प्रारंभिक सुनवाई के बाद कोर्ट ने अनावेदकों के खिलाफ प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned