election 2018 - नाराज हैं युवा, धंसक सकता है भाजपा का गढ़, ऐसे सामने आया सच

election 2018 - नाराज हैं युवा, धंसक सकता है भाजपा का गढ़, ऐसे सामने आया सच

deepak deewan | Publish: Sep, 05 2018 09:00:51 AM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

भाजपा का गढ़

ज्ञानी रजक/प्रभाकर मिश्रा @ जबलपुर. संस्कारधानी के सिहोरा विधानसभा क्षेत्र में 10 साल से भाजपा की नंदिनी मरावी को इस बार कांग्रेस की ओर से तगड़ी टक्कर देने की तैयारी शुरू हो गई है। पिछली बार हार का सामना करने वाली कांग्रेस की जमुना मरावी पर इस बार भी पार्टी भरोसा जता सकती है।


सिहोरा कर रहा जिला बनने का इंतजार
सम्भावनाओं से भरपूर सिहोरा क्षेत्र पिछड़ेपन की मार झेल रहा है। औद्योगिक क्षेद्ध हरगढ़ में वर्षों के आश्वासन के बाद भी उद्योग नहीं लग पाए। बेरोजगार युवा पलायन को मजबूर हैं। इसके साथ इसे जिला मुख्यालय बनाने की मांग भी वर्षों पुरानी है। इस मुद्दों पर कांग्रेस अपनी तरफ से भाजपा को घेरने की पूरी तैयारी में है।
2013 में वोट
भाजपा - नंदिनी मरावी- 63931
कांग्रेस - जमुना मरावी - 48927


ये हैं चार मुद्दे
जिले की मांग, खितौला रेलवे क्रॉसिंग पर ओवरब्रिज, आइटीआइ, महिला कॉलेज।
मजबूत दावेदार- भाजपा
- नंदिनी मरावी- पांच साल क्षेत्र में सक्रिय रहीं।
- खिलाड़ी सिंह आर्मो- प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह के करीबी
मजबूत दावेदार कांग्रेस
जमुना मरावी - पूरे पांच साल तक सरकार को घेरती रहीं।
कौशल्या गोंटिया - प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के पैनल में।
ये भी ठोक रहे ताल
डॉ. दीपक बरकड़े - सामाजिक कार्यकर्ता
मुन्नालाल मरावी - आदिवासियों के बीच अच्छी पकड़
रुकमणि गोटिंया - अवैध उत्खनन के मुद्दों को उठाती रही हैं।


जातिगत समीकरण

जातिगत समीकरण्जाा ब्राह्मण, ठाकुर, पटेल के वोट ज्यादा हैं। नंदिनी मरावी और जमुना मरावी दोनों ही आदिवासी हैं। आरक्षित क्षेत्र है, इसलिए इनके काम ही जीत-हार तय करेंगे।


चुनौतियां
भाजपा- नंदिनी की जगह को सुरक्षित रखने की
कांग्रेस- कार्यकर्ताओं को एकजुट रखना, अपने कार्यों का लेखा-जोखा देने में आएगी दिक्कत।


विधायक की परफॉर्मेंस
विकास के कुछ कार्य इनके खाते मे जाती हैं। बड़ी संख्या में ट्रांसफार्मर लगने से कई गांवों में अंधेरा दूर हुआ। पानी की दो योजनाएं स्वीकृत।

- सिहोरा के ओमनारायण श्रीवास्तव के अनुसार 10 साल में सिहोरा क्षेत्र में विकास नहीं हुआ। उद्योग नहीं होने से युवाओं में बेरोजगारी है।

Ad Block is Banned