#changemakers: नशे के कारोबार व अपराधों पर लगे अंकुश, तब बदलेगी तस्वीर

#changemakers: नशे के कारोबार व अपराधों पर लगे अंकुश, तब बदलेगी तस्वीर

Premshankar Tiwari | Publish: Oct, 13 2018 11:17:24 PM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

मतदाताओं ने तैयार किया पूर्व विधानसभा क्षेत्र का जन एजेंडा

जबलपुर। गरीब आबादी और झुग्गी-बस्तियों से घिरे पूर्व विधानसभा क्षेत्र में उसे नशा और अपराध मुक्त बनाया जाएं। जिसमें भी नशे और अपराधियों के खिलाफ लडऩे की क्षमता हो उसे आगे लाया जाएं। जनप्रतिनिधियों का कहना है कि हमारा प्रयास रहा है कि नशा और अपराध पर अंकुश लगे। इसके लिए शिक्षण सुविधाएं और रोजगार के अवसर बढ़ाने की भी जरुरत है। इस बाद मौका मिलेगा तो क्षेत्र में नए स्कूल-कॉलेज खोलने और छोटे उद्योग की स्थापना के प्रयास किए जाएंगे। इससे क्षेत्र में बेरोजगारी की समस्या दूर होगी। नशा और अपराध भी कम होगा।

लोगों ने तय किए ये मुद्दे :-
पत्रिका समूह के जन एजेंडा 2018-23 के तहत हर विधानसभा क्षेत्र के लोगों, जन संगठनों और समूहों ने बैठक कर रोडमैप तैयार किया। क्षेत्र के विकास के मुद्दे तय किए।

- पूर्व विस क्षेत्र में बड़े हिस्से में नशे का अवैध कारोबार बड़ी समस्या है। खुलेआम चरस, गांजा, अफीम, शराब की तस्करी और बिक्री के चलते कम उम्र में ही क्षेत्र के युवा नशे का शिकार हो रहे है। नशा का कारोबार करने वालों पर कड़ी और निष्पक्ष कार्रवाई की जरुरत है। नशे की मंडी बंद होने पर क्षेत्र की स्थिति सुधरने लगी।
- क्षेत्र में कोई भी प्रतिष्ठित शासकीय स्कूल और उच्च शिक्षण संस्थान है। गरीबी और बेहतर शिक्षण संस्थान की कमी के कारण माहौल न होने से कम उम्र में ही बच्चों से पढ़ाई छूट रही है। एक अदद सरकारी गल्र्स कॉलेज नहीं है। इससे दूर जाने की मजबूरी में कई लड़कियां पढ़ाई पूरी नहीं कर पा रही है। क्षेत्र में कॉलेज शुरू करना जरूरी है।

- क्षेत्र में बेरोजगारी बड़ी समस्या है। इसकी वजह अपराधिक वारदातें भी होती है। बेरोजगारी दूर करने के लिए छोटे एवं कुटीर उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए योजनाएं चलने की आवश्यकता है।
- यहां महिलाएं कपड़ों के निर्माण और उसमें कड़ाई से संबंधित कामकाज में बड़ी संख्या में जुड़ी हुई है। लेकिन इन्हें आज तक कोई मंच प्रदान नहीं किए जाने से पहचान नहीं मिल पायी है। इनके कामकाज को प्रोत्साहित करने और उन्हें बेहतर मेहनताना दिलाने के लिए कोई सेंटर बनाना चाहिए।

- क्षेत्र में गिने-चुने सरकारी स्कूल है। इन स्कूलों की हालत भी बेहद दयनीय है। टूटी-फूटी पुरानी बदरंग बिङ्क्षल्डगों में लगने वाले इन स्कूलों में जाने से बच्चे कतराते है। बुनियादी सुविधा तक के जूझ रहे स्कूलों से बच्चों के मोहभंग होने से वे समय से पहले ही पढ़ाई छोड़ देते है। सरकारी स्कूलों की अधोसंरचना को बेहतर बनाने की जरुरत है।
- रेडीमेड गारमेंट कॉम्प्लेक्स का विस्तार करके इसकी एक यूनिट को क्षेत्र के अल्पसंख्यक की बहुलता वाले इलाके में खोलना चाहिए। इससे रेडीमेड के कामकाज से बड़ी संख्या में जुड़े अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को रोजगार के बेहतर अवसर मिलेंगे।

- शुद्ध पेयजल का क्षेत्र में संकट है। पानी की बड़ी-बड़ी टंकियां बनने के बाद भी कई अभी तक चालू नहीं हुई है। इससे क्षेत्र में शुद्ध पेजयल नहीं मिल पाता है। उल्टी, दस्त जैसी बीमारियों से हमेशा लोग पीडि़त रहते है। शुद्ध पेजयल की आपूर्ति सुनिश्चत करने के लिए जरूरी कार्रवाई होना चाहिए।
- क्षेत्र में निर्माण कार्यों में गुणवत्ता सुनिश्चित करना चाहिए।

हर क्षेत्र में पिछड़ गई है विस
बीते पांच साल में कोई काम नहीं हुए है। पहले विकास संबंधी जो भी काम कराएं गए सब उसके बाद रूक गए। हर क्षेत्र में विस पिछड़ गई है। क्षेत्र में गल्र्स कॉलेज शुरू करने की जरुरत है। नशे की गिरफ्त से लोगों को बचाना और अपराध कम करना भी जरुरी है। मेरी कोशिश रहेगी कि जनता की हर छोटी से छोटी समस्या को दूर करूं।
लखन घनघोरिया, दावेदार कांगे्रस

विकास का पहिया दौड़ा
विधानसभा क्षेत्र में कई जगह पानी की समस्या थी। टंकियों का निर्माण कराकर इन क्षेत्रों में पानी की समस्या का समाधान कराया। कई अहम सड़कों का निर्णाण कार्य हुआ। क्षेत्र में सफाई व्यवस्था को दुरस्त किया गया। कानून व्यवस्था की स्थिति भी पहले से सुदृढ़ हुई है। मेरी कोशिश यही रहेगी कि आने वाले वर्षों में पूरा क्षेत्र चमन हो जाए।
अंचल सोनकर, दावेदार, भाजपा

केवल कोरी घोषणाएं
सघन और पुरानी बसाहट वाले पूर्व विधानसभा क्षेत्र में अनेक समस्याएं हैं। क्षेत्र के विकास के लिए घोषणाएं तो बहुत की गईं, लेकिन इन पर कभी अमल होता नजर नहीं आया। क्षेत्र में नशे के कारोबार व आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाना पहली प्राथमिकता में शामिल होना चाहिए।
राकेश पटेल, दावेदार, अन्य

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned