बिजली बिलों और नर्मदा सेवा यात्रा के खिलाफ कांग्रेसियों का प्रदर्शन, सीएम को दिखाए काले झंडे, देखें लाइव वीडियो

भेड़ाघाट चौराहे पर काले झंडे लेकर विरोध कर रहे कांग्रेसियों को पुलिस ने खदेड़ा, गहमागहमी पूर्ण रहा माहौल

By: deepak deewan

Updated: 11 Dec 2017, 03:04 PM IST

 

जबलपुर। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान जबलपुर आए तो उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा। बेतहासा आ रहे बिजली बिलों और नर्मदा सेवा यात्रा के खिलाफ नाराजगी जताते हुए कांग्रेसियों ने विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने सीएम शिवराजसिंह को काले झंडे भी दिखाए। हालांकि काले झंडे लेकर विरोध कर रहे कांग्रेसियों को पुलिस ने खदेड़ दिया। सीएम के दौरे के दौरान कई जगहों पर कांग्रेसियों ने विरोध प्रदर्शन किया। हालांकि सीएम सभी कार्यक्रमों में शामिल हुए। उन्होंने भटौली समेत अन्य स्थानों पर निर्माण कार्यों के लिए भूमि पूजन किया।

सडक़ पर दिखाए काले झंडे
नर्मदा सेवा यात्रा की वर्षगांठ के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में सीएम शिवराजसिंह शामिल होने जबलपुर आए हैं। उनका यह दौरा तय होते ही कांग्रेेसियों ने उनके विरोध में प्रदर्शन करने की घोषणा कर दी थी। कांग्रेसियों ने बिजली बिलों और नर्मदा सेवा यात्रा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने की बात कही थी। सोमवार को जब सीएम शिवराजसिंह जबलपुर से भेडा़घाट की ओर रवाना हुए तो रास्ते में कांग्रेसियों ने उन्हें काले झंडे दिखाए। कटँगा मेंं बड़ी संख्या में एकत्रित कांग्रेसियों ने सीएम को काले झंडे दिखाकर बिजली बिलों में मनमानी वृद्धि का विरोध किया। इधर ग्वारीघाट चौराहे पर भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को काले झंडे दिखाए गए। यहां कांग्रेस नेताओं राकेश यादव, विनोद दीवान सिद्धांत यादव,मुन्ना सेन, युवा नेता रोहित परिहार, सुनील चौधरी, कमलेश यादव, हरीश नीलकण्ठी सहित अनेक कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया।


कई कांग्रेसी हिरासत में
नर्मदा यात्रा और नर्मदा से की जा रही रेत की अंधाधुंध निकासी के विरोध में सीएम को काले झंडे दिखाने की कांग्रेस की घोषणा से पुलिस सुबह से ही सतर्क हो गई थी। पुलिस ने कई काग्रेसियों को सुबह उनके घर से ही हिरासत में ले लिया। हालांकि गहमा-गहमी के माहौल में अन्य कई कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सीएम को काले झंडे दिखाने का प्रयास किया। पुलिस ने इन्हें बल पूर्वक खदेड़ दिया।

स्वरूप नहीं बदला
कांग्रेसियों ने नर्मदा सेवा यात्रा को श्वांग करार दिया। कांग्रेस नेता जितिन राज व रीतेश अग्रवाल का कहना है कि नर्मदा सेवा यात्रा को एक साल हो गए, लेकिन नर्मदा में रेत का अवैध उत्खनन बंद नहीं हुआ। आज भी रसूखदार लोग सत्ताधारियों के साथ मिलकर अवैध घाटों से रेत की निकासी कर रहे हैं। रेत की अंधाधुंध निकासी के कारण ही नर्मदा दलदल में तब्दील हो गई है।

दिखाने के लिए छोड़ा पानी
ग्वारीघाट, उमाघाट समेत अन्य तटों पर नर्मदा में उठती लहरों को देखकर लोग हैरान रह गए। जिस स्थान पर कल तक दलदल और चोई नजर आ रही थी, आज वहां कमर तक पानी था। बताया गया है कि सीएम की यात्रा को लेकर ही बरगी डेम से नर्मदा में पानी छोड़ा गया है। पानी उतरने के बाद यहां गंदगी का आलम रहता है। नर्मदा का यह स्वरूप लोगों को दुखी भी कर रहा है।

deepak deewan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned