मप्र हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस पहुंचे नर्मदा किनारे विवादित जमीन देखने, दयोदय और नर्मदा मिशन के लोग रहे मौजूद: video

Lalit Kumar Kosta

Updated: 15 Feb 2020, 02:21:45 PM (IST)

Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

जबलपुर। मप्र हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस, एडवोकेट जनरल व अन्य अधिकारी शनिवार को मदन महल की पहाड़ी समेत तिलवारा के पास नर्मदा मिशन और दयोदय तीर्थ के बीच बने विवाद की जगह देखने पहुंचे। उन्होंने पहले मदन महल की पहाड़ी का दौरा किया और अतिक्रमणों को हटाए जाने के बाद के हालातों को देखा। इसके बाद नर्मदा तट तिलवारा के पास बनने जा रहे जैन मंदिर को लेकर होने वाले विवाद की वजह जानने के लिए पहुंचे। नर्मदा मिशन की याचिका पर उन्होंने मौके पर मुआयना करने की बात कही थी।
नर्मदा मिशन के अनुसार जिस जगह पर मंदिर का निर्माण किया जा रहा है, वह डूब क्षेत्र में आती है, साथ ही यह रायपेरियन जोन है जिस पर किसी भी प्रकार का निर्माण नहीं कराया जा सकता है। यह नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की गाइड लाइन का उल्लंघन है। वहीं दयोदय तीर्थ ने ऐसे सभी आरोपों से इंकार किया है। उनका कहना है कि वह उनकी निजी भूमि है तथा डूब क्षेत्र व नर्मदा से एक निर्धारित दूरी पर है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned