Mp High Court : चुनाव याचिकाओं के सम्बन्ध में सागर, शहडोल, सीधी व टीकमगढ़ सांसदों को नोटिस

Mp High Court : चुनाव याचिकाओं के सम्बन्ध में सागर, शहडोल, सीधी व टीकमगढ़ सांसदों को नोटिस
Member of Parliament,MP High Court,High Court to cancel the election petition denial,member of parliament salary,election petition,Kailash election petition,election petition against MLA Neena Verma,pending election petition

Abhishek Dixit | Publish: Jul, 26 2019 08:01:39 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

लोकसभा चुनाव में पराजित तीन प्रत्याशियों व एक मतदाता ने दायर की हैं चुनाव याचिकाएं, ईवीएम में गड़बड़ी, आचार संहिता के उल्लंघन सहित अन्य आरोप

जबलपुर. सागर, शहडोल, सीधी व टीकमगढ़ के भारतीय जनता पार्टी सांसदों को मप्र हाईकोर्ट ने नोटिस जारी किए हैं। लोकसभा चुनाव 2019 में पराजित तीन प्रत्याशियों व एक मतदाता की ओर से दायर चुनाव याचिकाओं पर हाईकोर्ट की अलग-अलग बेंचों ने संबंधित सांसदों से अपना पक्ष प्रस्तुत करने को कहा। इन चुनाव याचिकाओं में ईवीएम की गड़बड़ी, आचार संहिता के उल्लंघन सहित अन्य अनियमितताओं के आरोप लगाते हुए निर्वाचित सांसदों के निर्वाचन शून्य घोषित करने की मांग की गई।

इन्होंने दायर की याचिकाएं - इनके खिलाफ नोटिस
प्रमिला सिंह, कांग्रेस - शहडोल सांसद हिमाद्री सिंह
प्रभु सिंह ठाकुर, कांग्रेस - सागर सांसद राजबहादुर सिंह
राजकुमार सिंह चौहान, मतदाता - सीधी सांसद रीति पाठक
किरण सिंह अहिरवार, कांग्रेस - टीकमगढ़ सांसद डॉ.वीरेन्द्र कुमार

जवाब के लिए अलग-अलग तारीख
जस्टिस अतुल श्रीधरन की सिंगल बेंच में शहडोल सांसद हिमाद्री सिंह, जस्टिस राजीव कुमार दुबे की बेंच में सागर सांसद राजबहादुर सिंह, जस्टिस सुबोध अभ्यंकर की बेंच में सीधी सांसद रीति पाठक व जस्टिस मोहम्मद फहीम अनवर की बेंच के समक्ष टीकमगढ़ सांसद डॉ.वीरेन्द्र कुमार खिलाफ दायर चुनाव याचिका की सुनवाई हुई। कोर्ट ने नोटिस जारी कर शहडोल सांसद से 6 अगस्त, सागर सांसद से 20 अगस्त, सीधी सांसद से 6 सितंबर व टीकमगढ़ सांसद से 26 अगस्त तक जवाब मांगा। सभी याचिकाकर्ताओं की ओर से अधिवक्ता संजय अग्रवाल ने पक्ष रखा।

ईवीएम में हुई छेडख़ानी
इन सभी याचिकाओं में तर्क दिया गया कि लोकसभा चुनाव के दौरान ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की गई। वीपीपेट भी महज दिखावा साबित हुई। नियमानुसार प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र की पर्चियों का मिलान नहीं कराया गया। आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन कर वोटरों को गलत तरीके से मतदाताओं को प्रभावित किया गया। इसी वजह से महज छिंदवाड़ा छोड़कर अन्य सभी सीटों पर कांग्रेस के प्रत्याशियों की पराजय व भाजपा प्रत्याशियों की अप्रत्याशित विजय हो गई। आग्रह किया गया कि सभी के निर्वाचन निरस्त कर फिर से चुनाव कराए जाएं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned