Fraud- सिंगापुर की कंपनी से मंगवाई करोड़ों रुपए की मसूर दाल, कनाडा से आया घटिया माल, अब ये है हाल

deepankar roy

Publish: Nov, 15 2017 06:26:12 (IST)

Jabalpur, Madhya Pradesh, India
Fraud- सिंगापुर की कंपनी से मंगवाई करोड़ों रुपए की मसूर दाल, कनाडा से आया घटिया माल, अब ये है हाल

अनाज के दो कारोबारियों के साथ लाखों रुपए की ठगी

जबलपुर/कटनी। शहर के दो नामी अनाज व्यापारियों ने दलहन की बेहतर किस्म के लिए कनाडा से मसूर दाल बुलवाई। इसके लिए व्यापारियों ने करीब 3 करोड़ रुपए एक एजेंट को दिए। लेकिन जब विदेशी दाल कटनी पहुंची तो व्यापारियों के होश उड़ गए। व्यापारियों को दिखाएं गए दाल के नमूने और भेजे गई दाल की गुणवत्ता में बड़ा फर्क था। निम्न स्तर की मसूर दाल पहुंचाकर व्यापारी ठग लिए गए। लाखों रुपए का नुकसान होने पर व्यापारी मंगलवार को पुलिस के पास पहुंचे। पीडि़त व्यापारियों की शिकायत पर माधवनगर पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर लिया है।
सिंगापुर की कंपनी
पुलिस के अनुसार दाल कारोबारी मोहनलाल अग्रवाल व सत्यनारायण अग्रवाल द्वारा शिकायत दर्ज कराई गई है कि दोनों ने 28 मार्च 2017 को आरोपी नई बस्ती निवासी मनीष संगवानी व माधवनगर निवासी रोहित पोपटानी के माध्यम से इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड सिंगापुर की कंपनी से 550 मीट्रिक टन करीब 3 करोड़ रुपए की मसूर मंगवाई थी। दोनों आरोपियों ने मांग और भुगतान पर कनाडा से मसूर मंगवाकर व्यापारियों को दी। व्यापारियों ने जब दहलन देखी तो वह निम्न क्वालिटी की थी जबकि उन्होंने अच्छी क्वालिटी की मसूर के लिए भुगतान किया था।
1 करोड़ 28 लाख रुपए की ठगी
माधव नगर पुलिस के अनुसार व्यापारियों ने एजेंट के माध्यम से कनाडा से करीब 3 करोड़ रुपए की अच्छी क्वालिटी की मसूर आयातित की थी। लेकिन एजेंट ने कंपनी को कम राशि का भुगतान कर व्यापारियों को निम्न गुणवत्ता की मसूर पहुंचा दी। व्यापारियों ने पता लगाया तो सामने आया कि दोनों आरोपियों ने कंपनी को 3 करोड़ रुपए भुगतान करने की बजाय मात्र 1 करोड़ 72 लाख का भुगतान किया है और शेष राशि खुद ही हड़प ली। इस सौदे में एजेंट ने व्यापारियों को एक करोड़ 28 लाख रुपए का चूना लगा दिया।
मुंबई में है ऑफिस
कटनी निवासी दोनों आरोपियों का ऑफिस मुंबई में संचालित होने की जानकारी सामने आई है। बताया जा रहा है कि आरोपी बड़े दहलन कारोबारियों के लिए दलाली का काम करते हैं। विदेशों से दहलन मंगवा कर व्यापारियों को उपलब्ध करवाते हैं और कमीशन लेते हैं। पुलिस ने बताया कि दोनों आरोपियों को गिरफ्तार करने के प्रयास किए जा रहे हैं।
इसलिए मंगाई जाती है मसूर
तुअर दाल मिल संघ के अध्यक्ष चेतन हिंदुजा ने बताया कि प्रदेश व देश में मसूर का उत्पादन कम होता है और दाल की मांग अधिक है। दाल कारोबारी आवश्यकता अनुसार विदेशों से दलहन क्रय करते हैं और मिलों में इसे क्रश कर दाल तैयार की जाती है। इस दाल का खुले बाजार में मप्र सहित अन्य प्रदेशों में व्यापारी विक्रय करते हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned