scriptmp medical university internet cable break before exams | मेडिकल यूनिवर्सिटी में काटी इंटरनेट केबल, परीक्षा शुरू होने से पहले बड़ी लापरवाही | Patrika News

मेडिकल यूनिवर्सिटी में काटी इंटरनेट केबल, परीक्षा शुरू होने से पहले बड़ी लापरवाही

उखड़ा मिला इंटरनेट केबल, प्रश्नपत्र भेजने के समय हुई हलचल

जबलपुर

Published: October 29, 2021 11:14:53 am

जबलपुर। मध्यप्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय में फिर एक अजीब मामला सामने आया है। परीक्षा केंद्रों तक प्रश्नपत्र भेजने में हो रही देरी पर विवि के इंटरनेट कनेक्शन में छेड़छाड़ की बात सामने आई है। इस मामले में परीक्षा नियंत्रक की शिकायत पर एक ठेका कर्मी की विवि के कामकाज से छुट्टी कर दी गई है। उसके बाद भी गुरुवार को ऑनलाइन प्रश्नपत्र भेजते समय इंटरनेट कनेक्शन में परेशानी हुई। परीक्षा के ऐन मौके पर प्रश्नपत्र ऑनलाइन भेजने में समस्या होने पर छानबीन की गई, तो विवि का इंटरनेट कनेक्शन फिर उखड़ा मिला। इसके बाद इंटरनेट व्यवस्था में सुधार करके आनन-फानन में परीक्षा केंद्रों तक पश्नपत्र उपलब्ध कराए गए। लेकिन, हर दिन प्रश्न भेजने के समय पर ही इंटरनेट कनेक्शन से होने वाली छेडख़ानी का मामला अब संदिग्ध हो गया है।

mp medical university
mp medical university

सुरक्षा के लिए लाखों रुपए के भुगतान के बाद भी चूक
इंटरनेट केबिल में लगातार छेडख़ानी के बाद विवि की सुरक्षा के लिए लगाई गई निजी एजेंसी की कार्यप्रणाली भी संदिग्ध है। सूत्रों के अनुसार गुरुवार को ऑनलाइन प्रश्नपत्र भेजते समय समस्या हुई, तो छानबीन में प्रशासनिक भवन के ऊपर इंटरनेट के तार कटे मिले। इंटरनेट से छेड़छाड़ पर गुरुवार को कुलसचिव डॉ. प्रभात बुधौलिया ने कर्मचारियों से लेकर सुरक्षा कंपनी को फटकार लगाई। सभी जिम्मेदारों को तलब कर जवाब मांगा। बीएसएनएल के अधिकारियों को भी बुलाकर मामले में छानबीन कराई। सुरक्षा का जिम्मा सम्भाल रही आउट सोर्स कंपनी यूडीएस के प्रबंधन को अब विवि में केबल में तार से छेडख़ानी मिलने और सुरक्षा में चूक होने पर कार्रवाई की चेतावनी दी है।

ये कारण जुड़ रहे
विवि में इंटरनेट केबिल में छेड़छाड़ के मामले को लेकर कई तरह की बातें कहीं जा रही है। नए कुलसचिव के सुबह 10.30 बजे सभी कर्मियों के उपस्थित होने लेकर चलाए जा रहे कोड़े से कर्मचारियों का एक वर्ग परेशान है। कामकाज बदले जाने से नाराज कर्मियों की भूमिका भी प्रकरण में संदिग्ध है। पूर्व में ऑनलाइन कार्य से सम्बंधित अपनी महत्ता बरकरार रखने भी इंटरनेट में बाधा पहुंचाने का संदेह जताया जा रहा है।

इंटरनेट कनेक्शन में कुछ समस्या आ रही थी। इस मामले में परीक्षा नियंत्रक की ओर से शिकायत मिली थी। उस पर कार्रवाई करते हुए एक आउटसोर्स कर्मी को हटाने के लिए सम्बंधित निजी एजेंसी को पत्र भेजा गया है।
- डॉ. प्रभात बुधौलिया, कुलसचिव, मप्र आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयमुख्यमंत्री नितीश कुमार ने छोड़ा BJP का साथ, UP चुनावों में घोषित कर दिये 20 प्रत्याशीUP Assembly Elections 2022 : हेमा, जया, स्मृति और राजबब्बर रिझाएंगें मतदाताओं को, स्टार प्रचारकों की लिस्ट में हैं शामिलस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाUttar Pradesh Assembly Elections 2022: सपा का महा गठबंधन अखिलेश के लिए बड़ी चुनौतीबजट से पहले 1 फरवरी को बुलाई गई विधायक दल की बैठक, यह है अहम कारण
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.