पटवारी परीक्षा के पहले दिन ही लडख़ड़ाई व्यवस्था, सर्वर ठप होने से शुरू नहीं हो पायी परीक्षा

एमपी प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड की लापरवाही के चलते दूर-दराज से आए उम्मीदवार सुबह से भटक रहे

By: deepankar roy

Published: 09 Dec 2017, 11:25 AM IST

जबलपुर। प्रदेश में पटवारी परीक्षा की व्यवस्थाएं पहले दिन ही लडख़ड़ा गई। तकनीकी खामी के कारण शनिवार को पटवारी परीक्षा समय पर शुरू नहीं हो पायी है। परीक्षा में शामिल होने के लिए उम्मीदवार सुबह-सुबह ठिठुरते हुए दूर-दराज के परीक्षा केंद्रों में पहुंचे। जहां, पहले तो उन्हें जांच के नाम पर काफी देर तक बाहर खड़े रखा गया। उसके बाद बिना कोई कारण बताएं परीक्षा केंद्र में प्रवेश पर रोक लगा दी गई। सूत्रों का दावा है कि सर्वर ठप होने के कारण परीक्षा नहीं हो पा रही है। जैसे ही लिंक मिलेगा परीक्षा शुरू करा दी जाएगी। इस तकनीकी खामी के कारण सुबह 9 बजे शुरू होने वाली परीक्षा पूर्वान्ह 11 बजे तक शुरू नहीं हो सकी है। इसके चलते पहली पारी की परीक्षा के रद्द होने की आशंका बन गई है।

दूसरे शहरों से आए उम्मीदवार परेशान
प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) की द्वारा आयोजित ऑनलाइन पटवारी भर्ती परीक्षा के लिए सैकड़ों उम्मीदवारों को उनकी प्राथमिकता के विपरीत दूसरे शहरों में सेंटर आवंटित किए गए है। कई किलोमीटर का सफर करने के बाद परीक्षा देने के लिए पहुंचे ये उम्मीदवार सर्वर डाउन होने के कारण परीक्षा अभी तक शुरू नहीं होने से मायूस है। दूर-दराज से आए उम्मीदवार सुबह से परीक्षा केंद्रों के बाहर भटक रहे है। इनकी मुश्किल इसलिए भी और बढ़ गई है कि परीक्षा रद्द होने पर उन्हें वापसी के टिकट के साथ ठहरने और खाने-पीने की व्यवस्था के लिए परेशानी से जूझना पड़ेगा।

शहर में पहले दिन 75 सौ उम्मीदवार
प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) की ऑनलाइन पटवारी भर्ती परीक्षा के लिए शहर में ११ केन्द्र निर्धारित है। इनमें शनिवार को दो पालियों में परीक्षा होना है। पहले दिन ७५०० उम्मीदवार परीक्षा में शामिल होना है। परीक्षा के लिए नियुक्त किए गए ऑब्जर्वर्स ने शुक्रवार को परीक्षा केन्द्रों में पर्यवेक्षकों और स्टाफ को मॉक टेस्ट के जरिए रिहर्सल कराया। बताया गया कि 29 दिसम्बर तक चलने वाली परीक्षा में कुल डेढ़ लाख परीक्षार्थी शामिल होंगे।

उम्मीदवारों की चार स्तरीय जांच
परीक्षा में गड़बड़ी रोकने के लिए उम्मीदवारों को चार स्तरीय जांच की गई। सुबह से इन चार चरणों से गुजरने के बाद भी कई केंद्रों में उम्मीदवार को अंदर प्रवेश ही नहीं मिला। इस प्रक्रिया सबसे पहले रजिस्ट्रेशन की जांच की गई। जानकारों के मुताबिक परीक्षा केन्द्र में प्रवेश के दौरान बायोमेट्रिक जांच भी होगी। रेंडम जांच के बाद हॉल से बाहर आने के बाद भी उम्मीदवारों की जांच की जाएगी।

यह रहेगी स्थिति

11 केन्द्रों में दो पालियों में परीक्षा
पहली पाली सुबह 9 बजे से 11 बजे तक
दूसरी पाली दोपहर 3 बजे से शाम 5 बजे तक

ये भी पढ़ें
29 दिसम्बर तक 19 चरणों में होगी परीक्षा
1.5 लाख के लगभग परीक्षार्थी होंगे शामिल

ये हैं परीक्षा केन्द्र
लक्ष्मीबाई साहू जी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस
आईओएन डिजिटल जोन जीएनसीएसजी
श्री गुरु तेगबहादुर सिंह खालसा कॉलेज
एलएनसीटी कॉलेज
ओरिएंटल इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी
ज्ञानगंगा इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस-वन
ज्ञानगंगा इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस-टू
तक्षशिला आईटी इंस्टीट्यूट
हितकारिणी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी
प्रीमियर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी
विंध्या इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी

deepankar roy Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned