इतनी जल्दबाजी किस काम की साहब? आपने तो नाम पर कैंची चला दी

जबलपुर में छह हजार हितग्राहियों के नाम बाहर, राशन के लिए लगा रहे दफ्तरों के चक्कर

 

 

By: shyam bihari

Updated: 27 Oct 2020, 08:13 PM IST

 

जबलपुर। आधार सीडिंग के समय जल्दबाजी में जबलपुर जिले के छह हजार हितग्राहियों के नाम पात्रता सूची से काट दिए गए। हितग्राहियों को अपना नाम जुड़वाने के लिए कई विकल्प दिए गए हैं, लेकिन प्रक्रिया कठिन है। इसलिए उन्हें कार्यालयें के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। जिले में आधार इनबिल्ड पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम (एइपीडीएस) के आधार पर राशन का वितरण किया जाना है। इसके लिए कार्डधारी परिवार के प्रत्येक पात्र सदस्य का आधर नम्बर दर्ज कराना आवश्यक है। शासन ने अभियान चलाकर सभी के आधार सीडिंग कराए। विभागीय सूत्रों के अनुसार इस दौरान कई हितग्रहियों के आधार नम्बर नहीं मिले। इसलिए आधार सीडिंग के पोर्टल पर नाम डिलीट करने के विकल्प पर ज्यादा जोर दिया गया। नाम कटने से वे राशन से वंचित हो गए, जबकि उनमें से ज्यादातर पात्र हितग्राही हैं। अब उन्हें नाम जुड़वाने के लिए लम्बी प्रक्रिया से गुजरना पड़ रहा है। नई पात्रता पर्ची की तरह दस्तावेज लगाने पड़ रहे हैं।
1.73 लाख था लक्ष्य
जिले में करीब एक लाख 73 हजार 643 सदस्यों के आधार नम्बर दर्ज होने थे। यह लक्ष्य पूरा हो गया था। इस दौरान जिनके आधार नम्बर नहीं मिले, उनमें से ज्यादातर के नाम काट दिए गए। हालांकि इसके लिए कई विकल्प दिए गए थे। फिर भी कई नाम हटा दिए गए। डिप्टी कलेक्टर व जिला आपूर्ति नियंत्रक कलावती ब्यारे ने बताया कि आधार सीडिंग के समय जिन हितग्राहियों के आधार नम्बर नहीं दर्ज हो सके थे, उनके नाम हटाए गए थे। हालांकि उन्हें अगस्त तक राशन दिया गया। अब शासन के निर्देश पर इन नामों को पंचायत एवं नगर निगम के संभागीय कार्यालयों के माध्यम से जोड़ा जा रहा है।

Show More
shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned