longest express way in MP: इस एक्सप्रेस वे पर बन रहे अनेक बायपास, घटेंगी दूरियां

अमरकंटक से अलीराजपुर तक सिक्स लेन सड़क के साथ खूबसूरत सहमार्गों के निर्माण की योजना

By: Premshankar Tiwari

Published: 09 Mar 2018, 12:40 PM IST

जबलपुर। प्रदेश में प्रस्तावित सबसे लंबे एक्सप्रेस-वे से न केवल नर्मदा परिक्रमा आसान हो जाएगा बल्कि कई शहरों के बीच दूरियां भी घट जाएगी। सरकार ने लगभग १३०० किमी लम्बे नर्मदा एक्सप्रेस-वे पर जबलपुर और कुंडम में बाईपास बनाने का फैसला किया। इससे एक्प्रेस-वे से अमरकंटक मार्ग के साथ ही राष्ट्रीय राजमार्ग-७ और जबलपुर-मंडला भी जुड़ जाएगा। दोनों बाईपास के लिए एमपीआरडीसी और जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वावधान में १३ मार्च को जबलपुर तहसीली कार्यालय और कुंडम में जनप्रतिनिधियों व आम जनता से सुझाव लिए जाएंगे।

सीएस का कलेक्टर को निर्देश
जानकारी के अनुसार सीएस बसंत प्रताप सिंह ने बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कलेक्टर को इस सम्बंध में जनसुनवाई के निर्देश दिए थे। एमपीआरडीसी जबलपुर के प्रोजेक्ट मैनेजर पीके जोशी ने बताया, कंसल्टेंट कम्पनी ने दोनों बाईपास के लिए दो से तीन खाका तैयार किए हैं। जनसुनवाई में इसी पर चर्चा होगी। आम लोगों व जनप्रतिनिधियों से तकनीकी रूप से सकारात्मक सुझाव मिलने पर कंसल्टेंट कम्पनी उसे प्रस्तावित डीपीआर में शामिल करेगी।

कुंडम में यहां प्रस्तावित बाइपास
कंसल्टेंट कम्पनी ने एक्सप्रेस-वे पर कुंडम में प्रस्तावित बाईपास के लिए दाएं व बाएं दोनों तरफ से खाका तैयार किया है। कुंडम के जबलपुर छोर से दाएं से होकर निकलने वाली कच्ची सड़क, जो आगे जाकर अमरकंटक छोर से मिलती है, को प्रस्तावित किया गया है। बायीं ओर से भी बाईपास निकालने का प्रस्ताव शामिल किया गया है। चर्चा में दोनों में से जिस पर सहमति बनेगबी, उस पर निर्णय होगा।

जबलपुर बाइपास का ये होगा स्वरूप
नर्मदा एक्सप्रेस-वे पर जबलपुर में प्रस्तावित बाईपास का कंसल्टेंट कम्पनी ने जो खाका तैयार किया है, उसके अनुसार इसे खमरिया गांव से बरेला को जाने वाली सड़क पर पड़रिया गांव के पास मिलाया जाएगा। आगे चलकर यह सड़क चूल्हागोलाई में एनएच-७ से जुड़ी है। जबलपुर-कटनी रोड को भी कुसनेर गांव के पास जोड़ा जाएगा। इसके लिए कुसनेर से कुंडम वाली रोड को पड़रिया गांव के पास जोड़ा जाएगा। इससे एक्सप्रेस-वे एनएच-७ से दोनों तरफ से जुड़ जाएगा। यह जबलपुर रिंग रोड के आधे हिस्से के रूप में भी काम आएगा।

Show More
Premshankar Tiwari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned