नर्मदा गोकुम्भ यज्ञशाला में प्रशिक्षित गायें भी दिखेंगी भूमिका निभाते हुए

कलश यात्रा में पीतवस्त्रधारी पांच हजार मातृशक्ति होंगी शामिल

By: Sanjay Umrey

Updated: 18 Feb 2020, 06:55 PM IST

जबलपुर। ग्वारीघाट स्थित गीताधाम में 24 फरवरी से शुरू हो रहे नर्मदा गोकुम्भ के दौरान विशाल कांवड़ यात्रा निकाली जाएगी। दो मार्च को निकाली जाने वाली यात्रा नर्मदा तट से कुम्भ स्थल तक जाएगी। कांवडि़ए नर्मदा जल लेकर आएंगे। उससे सवा करोड़ नर्मदेश्वर महादेव का अभिषेक किया जाएगा। कुम्भ संरक्षक स्वामी श्यामदेवाचार्य और संयोजक स्वामी नरसिंहदास के अनुसार कुम्भ में कई अनुष्ठान होंगे। विशेष रुप से यज्ञ शालाओं का निर्माण कराया जा रहा है। आयोजन में प्रमुख संतों का समागम होगा।
नर्मदा कुम्भ स्थल में आयोजित गो पुष्टि यज्ञ के दौरान अलग नजारा होगा। यह यज्ञ गोमाता की उपस्थिति में होगा। गोमाता यज्ञ स्थल के आसपास विचरण करेंगी। ऐसा प्रदेश में पहली बार होगी। इसके लिए राजस्थान के पचमेढ़ा से गो प्रशिक्षक विशेष रुप से आ रहे हैं। ये गोमाता को यज्ञ में आमंत्रित करने का प्रशिक्षण देंगे। सोमवार को बैठक में अंजू भार्गव, सुनीता चावला, कृष्णा यादव, मीना महाजन, जिया अरोरा, सपना श्रीवास्तव, अंगूरी राजपूत उपस्थित थीं।
महिला मंडल घर-घर देगा आमंत्रण
नर्मदा कुम्भ के दौरान गीताधाम से ग्वारीघाट तक कलश यात्रा होगी। इसमें पीतवस्त्रधारी पांच हजार रुद्र शक्ति नारियां शामिल होंगी। कलश यात्रा की तैयारियों को लेकर सोमवार को सनातन धर्म महासभा की महिला मंडल की बैठक हुई। यात्रा को भव्य बनाने पर चर्चा हुई। बैठक में शहर के लोगों को कुम्भ के लिए घर-घर आमंत्रण देने का निर्णय हुआ। यात्रा में शामिल कन्याओं का ग्वारीघाट में पूजन होगा।

Sanjay Umrey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned