भेड़ाघाट से लेकर तेंदूखेड़ा तक अब घर-घर पहुंचेगा नर्मदा जल, जलसंकट से मिलगी निजात

भेड़ाघाट से लेकर तेंदूखेड़ा तक अब घर-घर पहुंचेगा नर्मदा जल, जलसंकट से मिलगी निजात

जबलपुर. भेड़ाघाट, लम्हेटाघाट से लेकर कटंगी, पाटन, मझौली व पनागर क्षेत्र से जल संकट दूर होने वाला है। लम्हेटाघाट में बन रहे वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से 31 एमएलडी नर्मदा जल की आपूर्ति होगी। ढाई सौ करोड़ से ज्यादा की लागत वाले प्रोजेक्ट में नदी से रॉ वाटर खींचने, उसे फिल्टर करने व राइजिंग लाइन से टंकियां भरने का इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जा रहा है। इंटक वेल, सम्पवेल व ट्रीटमेंट प्लांट तैयार किया जा रहा है। लम्हेटा प्लांट से आपूर्ति शुरू होने पर बड़े क्षेत्र से जल संकट दूर होगा। अभी तक भेड़ाघाट, लम्हेटाघाट से लेकर कटंगी, पाटन, मझौली व पनागर क्षेत्र के लोग भूगर्भीय पानी पर निर्भर हैं। इनमें से कई इलाकों में गर्मी के दिनों में जलस्रोत सूख जाते हैं। ऐसी स्थिति में लोगों को पीने से लेकर ऊ परी उपयोग के लिए पानी की व्यवस्था करना मुश्किल होता है।

तेंदूखेड़ा तक पहुंचाया जाएगा पानी
दमोह के तेंदूखेड़ा क्षेत्र में लोगों को गर्मी के दिनों में बड़े जल संकट का सामना करना पड़ता है। लम्हेटाघाट में बनाए जा रहे ट्रीटमेंट प्लांट से दमोह जिले के तेंदूखेड़ा तक नर्मदा जल पहुंचाया जाएगा। अभी तक नगर निगम की सीमा में पांच प्लांट से जलापूर्ति की जाती है। जिनकी क्षमता दो सौ पचासी एमएलडी के लगभग है। माना जा रहा है कि नगरीय प्रशासन विभाग के द्वारा बनाए जा रहे प्लांट का निर्माण पूरा होने पर जिले में जलापूर्ति व्यवस्था और बेहतर होगी।

लम्हेटाघाट का महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट पूरा होने पर जिले में जलापूर्ति क्षमता बढ़ेगी। प्लांट से बड़े क्षेत्र में जलापूर्ति की जाएगी।
भरत यादव, कलेक्टर

abhishek dixit Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned