MP में साइबर क्राइम भी चरम पर, भरोसे का नाजायज फायदा उठा कर घटना को दे रहे अंजाम

-देखते ही देखते mobile banking से बुजुर्ग के खाते से उड़ा लिए 3.20 लाख रुपये
-बातचीत के लिए मांगा मोबाइल और कर दिया फ्रॉड

By: Ajay Chaturvedi

Published: 15 Jun 2021, 12:56 PM IST

जबलपुर. MP में न केवल हत्या, लूट, राहजनी, बलात्कार जैसी घटनाएं ही हो रही हैं, बल्कि यहां तो साइबर क्राइम भी चरम पर है। नई उम्र के युवा देखते ही देखते लाखों का व्यारा-न्यारा कर दे रहे हैं। इतने शातिर कि किसी के सामने ही उसके देखते-देखते उसे जोर का झटका धीरे से दे जा रहे हैं ये युवा साइबर क्रिमिनल।

ताजा घटना में मीरगंज भेड़ाघाट निवासी एक सेवानिवृत्त बुजुर्ग से पड़ोसी युवक ने बातचीत के लिए मोबाइल मांगे और देखते ही देखते उसके सामने ही उसके खाते से 3.20 लाख रुपये पार कर दिया। घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसा कृषि विभाग से सेवानिवृत्त राधिका प्रसाद तिवारी ने इसी कोरोना काल के दौरान लगे लॉकडाउन के दौरान नेट बैंकिंग की सुविधा ली है। हालांकि नेट बैंकिंग (mobile banking) के जरिए लेन-देन का काम वह आमतौर पर अपने पौत्र से कराते हैं। लेकिन एकाध बार उन्होंने इसके लिए पड़ोसी युवक की मदद भी लिए थे। उस युवक पर राधिका बहुत ही भरोसा भी किया करते रहे। लेकिन उसी युवक ने उनके भरोसे का नाजायज फायदा उठाते हुए बड़ी रकम पार कर दी। और जब इस बाबत उससे पूछा गया तो झगड़ा करने पर आमादा हो गया।

ये भी पढ़ें- MP में नियंत्रण से बाहर अपराध का ग्राफ, आए दिन हो रही हत्याएं

पीड़ित राधिका तिवारी

पीड़ित राधिका प्रसाद तिवारी बताते हैं कि करीब महीना भर पहले विनोद पांडेय नामक युवक ने बात करने के लिए उनका मोबाइल मांगा। कहा कि उसके मोबाइल का बैलेंस खत्म हो गया है। अब राधिका ने भरोसे पर पड़ोसी युवक को अपना मोबाइल दे दिया। अब उनका आरोप है कि इसी दौरान विनोद ने उनके खाते से नेट बैंकिंग के जरिए 3.20 लाख रुपये दूसरे खातों में ट्रांसफर कर लिए।

वह बताते हैं कि जब उन्हें इस गड़बझाले की जानकारी हुई तो विनोद से पूछा, इस पर वह झगड़ा करने लगा। बैंक से पता किया तो ट्रांसफर हुए खातों की जानकारी मिली। जानकारी के अनुसार बुजुर्ग पूर्व में पड़ोसी से पैसे ट्रांसफर करने में मदद लेते रहे हैं। लिहाजा विनोद को उनके नेटबैंकिंग का पासवर्ड मालूम था। उसी का नाजायज फायदा उठाते हुए उसने अबकी बार जोर का झटका धीरे से दे दिया।

इसे लेकर वह सोमवार को भेड़ाघाट थाने पहुंचे। मामले में विनोद के खिलाफ नामजद शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर आरोपी को हिरासत में ले लिया है।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned