रिटायर्ड इंस्पेक्टर और डॉक्टर विदेशी फंड के नाम पर चला रहे थे ठगी का नेटवर्क

रिटायर्ड इंस्पेक्टर और डॉक्टर विदेशी फंड के नाम पर चला रहे थे ठगी का नेटवर्क
Nine arrested

Santosh Kumar Singh | Publish: Oct, 12 2019 01:05:04 PM (IST) | Updated: Oct, 12 2019 01:13:50 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

Network of fraud:दिलाने का झांसा देकर लगाते थे लाखों की चपत, गिरोह के नौ गुर्गे गिरफ्तार, ओमती पुलिस की कार्रवाई, गिरोह एमपी, यूपी गुजरात, असम में कई कई लोगों को लगा चुका है लाखों की चपत, आरोपियों में सेवानिवृत्त इंस्पेक्टर और डॉक्टर भी शामिल

जबलपुर. एनजीओ को विदेश से 25 करोड़ रुपए फंड दिलाने का झांसा देकर रेत-गिट्टी सप्लायर से सात लाख की ठगी करने वाले नौ आरोपियों को ओमती पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उनके पास से ठगी के एक लाख रुपए और नौ मोबाइल भी बरामद हुए हैं। आरोपियों में सेवानिवृत्त इंस्पेक्टर, होम्योपैथिक और आयुर्वेद डॉक्टर भी शामिल हैं। गिरोह का नेटवर्क एमपी, यूपी, गुजरात, असम तक फैला हुआ है। आरोपियों को रिमांड पर लिया गया है।

एमपी सहित यूपी, गुजरात व असम के आरोपी

एएसपी सिटी राजेश त्रिपाठी ने शुक्रवार को प्रकरण का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में झंडा चौक जयप्रकाश नगर निवासी डॉ. होमनाथ ठाकुर होम्योपैथी का डॉक्टर है। उसी ने मदन महल निवासी तनवीर सलूजा को झांसे में फंसाया था। इसके बाद आदर्श कॉलोनी कटरा अधारताल निवासी अजेंद्र सिंह राठौर, यूपी पुलिस से रिटायर्ड इंस्पेक्टर अलीगंज लखनऊ निवासी रणजीत सिंह तोमर, आगरा निवासी विपिन सिजला, प्रताप नारायण गर्ग, कानपुर निवासी आशीष कुमार पोरवाल, उमेश कुमार वर्मा, असम निवासी राजीव देव, गुजरात निवासी बसीरा इब्राहिम से होटल में मुलाकात कराई थी।

 

Nine mobiles recovered
IMAGE CREDIT: patrika

आगरा में हुई थी दलाल से मुलाकात
सात लाख की ठगी करने वाले इस गिरोह ने इसी तरह कई लोगों को चपत लगाई है। गिरोह के गुर्गों को उनकी भूमिका के अनुसार दो से तीन लाख रुपए मिलने वाले थे। प्रारम्भिक पूछताछ में डॉ. होमनाथ ठाकुर ने बताया कि चार महीने पहले आगरा भ्रमण के दौरान उसकी मुलाकात दलाल विपिन कुमार से हुई थी। विपिन आयुर्वेद चिकित्सक हैं। उसी ने इस तरह एनजीओ संचालक को झांसे में फंसाकर ठगी करने की बात कही थी। डॉ. होमनाथ बारातघर बनवा रहा है। ठगी की रकम उसने बारातघर के निर्माण में खर्च कर दिया है।

One lakh rupees recovered
IMAGE CREDIT: patrika

दस लाख की डीडी से हुआ संदेह
10 अक्टूबर को नौदरा ब्रिज स्थित होटल में फंड दिलाने वाली कम्पनी के आठ अधिकारियों से मिलवाने के लिए तनवीर को बुलाया। वहां कश्यप इलेक्ट्रॉनिक के नाम से दस लाख रुपए की नॉन कैंसिलेशन डीडी बनवाने के लिए कहा गया तो तनवीर को संदेह हुआ। ऑनलाइन सर्चिंग के बाद उसने पुलिस को सूचना देकर गिरोह का भंडाफोड़ किया।

Tanveer Singh Saluja
IMAGE CREDIT: patrika

ये है मामला
रेत-गिट्टी सप्लायर मदन महल निवासी तनवीर सिंह सलूजा की मुलाकात 20 सितम्बर को धनी की कुटिया, अधारताल निवासी डॉ. होमनाथ ठाकुर से हुई। डॉ. होमनाथ ने तनवीन सिंह को बताया कि वह एनजीओ को विदेशी फंड दिलाता है। यदि वह 15 करोड़ की सम्पत्ति दिखाए तो उसके एनजीओ को 25 करोड़ दिला देगा। डॉ. होमनाथ ने 25 सितम्बर को तनवीर से पांच लाख और नौ अक्टूबर को दो लाख रुपए लिए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned