रेलवे के टिकट लेने का नया नियम, अब इलेक्ट्रिॉनिक सिस्टम से बात करेंगे कर्मचारी और यात्री

रेलवे के टिकट लेने का नया नियम, अब इलेक्ट्रिॉनिक सिस्टम से बात करेंगे कर्मचारी और यात्री

 

By: Lalit kostha

Published: 15 Jun 2021, 06:47 AM IST

जबलपुर। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर कमजोर पडऩे के बाद रेलवे स्टेशन और ट्रेनों में यात्रियों की संख्या बढऩे लगी है। रेल कर्मियों और यात्रियों को संक्रमण से बचाने के लिए रेलवे लगातार नई तकनीक के उपयोग को बढ़ावा दे रहा है। रेलवे स्टेशन में टिकट काउंटर पर यात्रियों और बुकिंग क्लर्क के बीच सुरक्षित दूरी के लिए प्रत्यक्ष बातचीत करने के लिए इलेक्ट्रिक कम्युनिकेशन सिस्टम लगाए गए हैं। यात्री काउंटर के बाहर लगे माइक के जरिए टिकट बुकिंग से सम्बंधित जानकारी रेल कर्मी को दे सकेगा। इसी तरह रेल कर्मी की आवाज भी बाहर लगे स्पीकर पर यात्री को स्पष्ट सुनाई देगी। रेलवे ने स्टेशन, कार्यालय सहित अस्पताल तक पब्लिक विंडो को इलेक्ट्रिक कम्युनिकेशन सिस्टम से लैस किया है। काउंटर पर बातचीत के दौरान कर्मी और यात्री के आमने-सामने होने पर संक्रमण का खतरा रहता है। इसलिए रेलवे ने पूछताछ, आरक्षण और बुकिंग कार्यालयों में कांच की दीवार बनाई है। इससे दीवार के दोनों पार आवाज स्पष्ट सुनाई नहीं देती। इसे इलेक्ट्रिक कम्युनिकेशन सिस्टम लगाकर दूर कर दिया गया है।

पमरे में 51 काउंटर पर नया सिस्टम
पमरे ने आधुनिक कम्युनिकेशन प्रणाली को मुख्य रेलवे स्टेशन सहित जबलपुर रेल मंडल के अन्य स्टेशन और रेल अस्पताल में लगाया है। जबलपुर प्लेटफॉर्म-1 पर 12, प्लेटफॉर्म-6 पर पांच और रीवा स्टेशन पर तीन सिस्टम लगाए गए हैं। गाडरवारा, नरसिंहपुर, पिपरिया, सोहागपुर, बनखेड़ी, कटनी, निवार, स्लीमनाबाद, कटनी साउथ, झुकेही, मैहर, रीवा, सागर व कुछ अन्य स्टेशन पर एक-एक सिस्टम लगाए गए हैं। कटनी और पिपरिया रेलवे अस्पताल में भी रिसेप्शन काउंटर पर यह सुविधा दी गई है। मंडल के 33 स्टेशन और अस्पताल को मिलाकर 51 काउंटर पर कम्युनिकेशन सिस्टम लगाए गए हैं।

Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned