नहीं मिल रही स्कॉलरशिप, सीएम हैल्पलाइन में पहुंची शिकायत

प्रकरणों के लंबित रखने पर डिप्टी कलेक्टर हुई नाराज , शिक्षकों के समय पर स्कूल न आने की शिकायतें बीआरसी की बैठक में दिए सख्त निर्देश , कोरोना वायरस से निपटने स्कूलों में जाकर दे बचाव की जानकारी

By: Mayank Kumar Sahu

Published: 07 Mar 2020, 12:32 AM IST

जबलपुर।

सीएम हैल्प लाइन में शिक्षा विभाग के प्रकरणों पर ढिलाई बरतने को लेकर डिप्टी कलेक्टर भडक़ गई। उन्होंने अधिकारियों को दो टूक कहा कि प्रकरणों के निराकरण में गंभीरता बरते नहीं तो संबंधितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। जिला शिक्षा केंद्र में डिप्टी कलेक्टर एवं डीपीसी कलावती ब्यारे जिले के सभी विकासखंडों के बीआरसी की बैठक में निर्देश दिए। बताया जाता है सीएम हैल्पलाइन में जिले में करीब आधा सैकड़ा प्रकरण लंबित हैं। सर्वाधिक मामले पाटन विकासखंड में होने के कारण नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि सीएम हैल्पलाईन के प्रकरणों को अपने स्तर पर लंबित न रखें। इसकी मॉनीटरिंग उच्च स्तर पर हो रही है। एक सप्ताह के अंदर सभी प्रकरणों का निराकरण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। अभिभावकों और छात्रों ने सीएम हैल्प लाईन में शिकायत की गई की राष्ट्रीय मीन्स कम मेरिट की छात्रवृत्ति का भुगतान अभी तक नहीं हुआ है। इस पर बीआरसी ने बताया कि बजट में राशि न होने के कारण भुगतान नहीं हो पा रहा है। इसी तरह सिहोरा, पनागर आदि विकासखंडों से स्कूल निर्माण की राशि जारी न किए जाने, शिक्षकों के समय पर स्कूल न आने जैसी शिकायतें की गई थी।

स्कूलों में जाकर दे कोरोना वायरस की जानकारी

बैठक के दौरान सभी बीआरसी को निर्देशित किया गया कि कोरोना वायरस को देखते हुए अपने विकासखंड स्तर पर संकुल प्राचार्यों के माध्यम से स्कूलों में दिशा निर्देश जारी किए जाएं। कारोना वायरस से बचने, विशेष सफाई के प्रबंध रखने, पीडि़त की पहचान करने आदि के संबंध में डिप्टी कलेक्टर ने निर्देश दिए। बैठक में बीआरसी आरके उपाध्याय, सीएल बागरी,मुकेश श्रीवास्तव आदि उपस्थित थे।

Mayank Kumar Sahu Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned