scriptNot the doctor's fault, return the original document | डॉक्टर की गलती नहीं, लौटाओ मूल दस्तावेज | Patrika News

डॉक्टर की गलती नहीं, लौटाओ मूल दस्तावेज

मेडिकल पीजी परीक्षा उत्तीर्ण होने के बाद भी निर्धारित समय में डॉक्टर को ग्रामीण क्षेत्र में सेवा करने के लिए नियुक्ति नहीं दी गई। इस पर मप्र हाईकोर्ट ने माना कि डॉक्टर की गलती नहीं थी। जस्टिस सुजय पॉल व जस्टिस डीडी बंसल की बेंच ने एमजी मेडिकल कॉलेज इंदौर को निर्देश दिए कि 45 दिन के अंदर याचिकाकर्ता डॉक्टर को उसके मूल दस्तावेज वापस लौटाए जाएं।

जबलपुर

Published: May 17, 2022 09:35:23 pm

हाईकोर्ट ने दिए निर्देश, एमजी मेडिकल कॉलेज इंदौर का मामला
जबलपुर।
मेडिकल पीजी परीक्षा उत्तीर्ण होने के बाद भी निर्धारित समय में डॉक्टर को ग्रामीण क्षेत्र में सेवा करने के लिए नियुक्ति नहीं दी गई। इस पर मप्र हाईकोर्ट ने माना कि डॉक्टर की गलती नहीं थी। जस्टिस सुजय पॉल व जस्टिस डीडी बंसल की बेंच ने एमजी मेडिकल कॉलेज इंदौर को निर्देश दिए कि 45 दिन के अंदर याचिकाकर्ता डॉक्टर को उसके मूल दस्तावेज वापस लौटाए जाएं। इस मत के साथ कोर्ट ने एक याचिका का निराकरण किया।
डॉ अर्चना गोविंदराव भांगे की ओर से याचिका दायर की गई। अधिवक्ता ब्रह्मानन्द पांडे ने कोर्ट को बताया कि याचिकाकर्ता ने 2015 में एमजी मेडिकल कॉलेज इंदौर में मेडिकल पीजी कोर्स के लिए प्रवेश लिया। नियमानुसार उनसे प्रवेश के समय बांड भराया गया कि उन्हें पीजी कोर्स पास करने के बाद एक साल प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में सेवाएं देनी होंगी। याचिकाकर्ता का रिजल्ट 17 सितंबर 2018 को आया। इसमें उसे पूरक मिली, लेकिन सरकार ने ग्रामीण क्षेत्र में सेवा के लिए उसका नियुक्ति पत्र जारी कर दिया याचिकाकर्ता ने 31 दिसम्बर 2018 को पूरक की परीक्षा पास की। लेकिन कई अभ्यावेदन देने के बावजूद अबकी बार उसका नियुक्ति पत्र जारी नहीं किया गया। इसी दौरान पुणे में उन्हें रेजिडेंट डॉक्टर की नौकरी मिल गई। इसके लिए उन्हें मूल दस्तावेजों की आवश्यकता है, जो एमजी मेडिकल कॉलेज में जमा हैं। तर्क दिया गया कि पीजी परीक्षा पास होने के तीन माह के अंदर ग्रामीण क्षेत्र में नौकरी न दिए जाने पर बांड स्वयमेव समाप्त हो गया। कोर्ट के नोटिस पर सरकार की ओर से बताया गया कि एमजी मेडिकल कॉलेज के डीन ने याचिकाकर्ता के सफलतापूर्वक पीजी उत्तीर्ण करने की सूचना नहीं दी, इसलिए नियुक्ति पत्र जारी नहीं किया गया। सुनवाई के बाद कोर्ट ने याचिका मंजूर करते हुए याचिकाकर्ता को उसके मूल दस्तावेज वापस लौटाने के निर्देश दिए।

Court News
Court News

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Amravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या का मास्टरमाइंड नागपुर से गिरफ्तार, अब तक 7 आरोपी दबोचे गए, NIA ने भी दर्ज किया केसमोहम्‍मद जुबैर की जमानत याचिका हुई खारिज,दिल्ली की अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजाSharad Pawar Controversial Post: अभिनेत्री केतकी चितले ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हिरासत के दौरान मेरे सीने पर मारा गया, छेड़खानी की गईIndian of the World: देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस को यूके पार्लियामेंट में मिला यह पुरस्कार, पीएम मोदी को सराहाGujarat Covid: गुजरात में 24 घंटे में मिले कोरोना के 580 नए मरीजयूपी के स्कूलों में हर 3 महीने में होगी परीक्षा, देखे क्या है तैयारीराज्यसभा में 31 फीसदी सांसद दागी, 87 फीसदी करोड़पतिकांग्रेस पार्टी ने जेपी नड्डा को BJP नेता द्वारा राहुल गांधी से जुड़ी वीडियो शेयर करने पर लिखी चिट्ठी, कहा - 'मांगे माफी, वरना करेंगे कानूनी कार्रवाई'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.