शादी के कुछ मिनट पहले सामने आया दुल्हन का ये चौंका देने वाला सच, पुलिस भी रह गई दंग

राजस्थान के युवक से होना था शादी, बनवाई फर्जी आईडी, हकीकत पता चलने पर पुलिस भी रह गई हैरान

By: Premshankar Tiwari

Published: 12 Mar 2018, 08:03 AM IST

जबलपुर। राजस्थान के एक दिव्यांग युवक की जबलपुर की युवती से शादी तय हुई। रविवार को होने वाली इस शादी के लिए सभी तैयारियां पूरी हो चुकी थी। बस फेरे ही पडऩे वाले थे कि मंडप में पुलिस पहुंच गई। बिन बुलाए खाकीवर्दी के मेहमानों को देखते ही वहां हड़कंप मच गया। उसके बाद पुलिस ने जब मंडल पर सजी-धजी बैठी दुल्हन से पूछताछ शुरू की तो दुल्हा भी हैरान रह गया। कुछ ही मिनट के अंदर दुल्हन की शादी की जो हकीकत सामने आयी उससे पुलिस भी हैरान रह गई। दुल्हन और उसके कथित रिश्तेदारों को शादी की पार्टी से सीधे गिरफ्तार करके तिलवारा थाने ले गए।

ये है मामला
चार ठगों ने राजस्थान के बांसवाड़ा में रहने वाले एक व्यक्ति को अपने जाल में फंसाया। उसकी एक युवती से शादी कराने की बात कही। उसके बाद आरोपितों ने एक युवती की फर्जी आईडी व दस्तावेज बनाए और उसे दूसरे नाम से व्यक्ति के सामने किया। रविवार को वह शादी करने शहर आया, तो आरोपितों के फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ। पुलिस ने धर्मेद्र समेत उसके साथी अभिषेक जैन, राजेन्द्र ठाकुर उर्फ राजा व विशाल ठाकुर पर धोखाधड़ी व फर्जी दस्तावेज बनाने का प्रकरण दर्ज किया।

दूसरी शादी की थी तैयारी
तिलवारा थाना प्रभारी जितेंद्र यादव ने बताया कि धर्मेन्द्र जैन राजस्थान में रहता है। उसकी पहचान बांसवाड़ा के ग्राम अलथूना निवासी दिलीप कुमार सागोत से थी। दिलीप की पत्नी की मौत हो चुकी है। धर्मेद्र ने दिलीप से कहा कि वह उसकी शादी जबलपुर में रहने वाली युवती से करा देगा। धर्मेद्र ने साथी अभिषेक जैन, राजेंद्र ठाकुर उर्फ राजा व विशाल के साथ मिलकर प्लान बनाया।

शोभा को बनाया ऋतु
चारों ने शोभा गिरी नाम की महिला को दिलीप व उसके परिजन के सामने ऋतु अग्रवाल बनाकर पेश किया। रविवार को शादी करने दिलीप सपरिवार शहर आया। शादी सगड़ा में होनी थी। विवाह के पूर्व दिलीप ने शोभा उर्फ ऋतु का घर देखने की बात कही, तो धर्मेद्र समेत अभिषेक जैन, राजेन्द्र ठाकुर उर्फ राजा व विशाल ने बातें बनानी शुरू कर दी। इस पर दिलीप और उसके परिजन को संदेह हुआ।

3 लड़की, लाखों रुपए में सौदा
पुलिस के अनुसार दिलीप की शादी एक युवती से कराने के लिए धर्मेंद्र ने सौदेबाजी की। उसने रुपए देने पर अच्छी लड़की से शादी कराने का वादा किया। इस पर दिलीप तैयार हो गया। उसके बाद धर्मेंद्र ने दिलीप को तीन युवतियों के फोटो दिखाई। बाद में कथित ऋतु नाम की युवती से शादी कराने के एवज में उससे 2 लाख 70 रुपए ऐंठे। फिर 11 मार्च को तिलवारा के एक धार्मिक स्थल में शादी कराने की बात फायनल की।

फर्जी आधार कार्ड!
पुलिस के अनुसार जांच में युवती का ऋतु अग्रवाल, ज्योति नगर, गढ़ा नाम-पता का आधार कार्ड मिला। लेकिन जब पूछताछ की गई तो युवती ने खुद को मंडला जिले की निवासी बताया। जांच में सामने आया कि शादी से पहले धर्मेंद्र और उसके साथियों ने मिलकर युवती का फर्जी आधार कार्ड तैयार कराया। पुलिस को आशंका है कि धर्मेंद्र और ऋतु शादी के नाम पर झांसा देकर रुपए ऐंठने का करते है। इससे पहले भी राजस्थान के युवकों से शादी के झांसे देकर रुपए ऐंठने के मामले में शहर से कुछ लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि लुटरी दुल्हन का गिरोह फिर सक्रिय हो गया है।

Premshankar Tiwari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned