बैलगाड़ी से सदन पहुंचे नेता प्रतिपक्ष, हंगामें में एक नेता पहुंचा अस्पताल

स्मार्ट सिटी पर घेराबंदी, नगर निगम सदन की विशेष बैठक हंगामे के साथ शुरू, पार्षद की तबियत बिगड़ी

जबलपुर। महंगी कारों में चलने नेता जब बैलगाड़ी की सवारी कर मुख्य मार्गों से निकले तो लोग देखते ही रह गए। लोग ये सोच रहे थे कि आखिर मामला क्या है। वहीं हाथों की तख्तियों पर जब नजर पड़ी तो माजरा समझ में आ गया। नेता प्रतिपक्ष सहित समस्त विपक्षी नेता भी बैलगाड़ी में बैठकर नगर निगम सदन पहुंचे। जहां उन्होंने नगर सरकार का घेराव करते हुए स्मार्ट सिटी को लेकर कई सवाल दागे, जिससे हंगामे के साथ सदन की बैठक शुरू हुई। 

यह है मामला
नगर सरकार ने स्मार्ट सिटी को लेकर शनिवार को नगर निगम सदन की विशेष बैठक बुलाई है।  सुबह 11 बजे से भवानी प्रसाद तिवारी सभाकक्ष में आयोजित इस बैठक में विपक्ष के नेता राजेश सोनकर, विनय सक्सेना, नीतू तेजकुमार भगत सहित अन्य विपक्षी पार्षद विरोध स्वरूप बैठगाड़ी में बैठकर सदन पहुंचे। विपक्षी नेताओं ने जहां स्मार्ट सिटी को लेकर तीर चला था उससे बैठक में हंगामा तो मचना ही था। किंतु इसी बीच पार्षद गिरीश गोंटिया की तबियत बिगड़ गई और बैठक रोकनी पड़ी। गोंटिया को तत्काल उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया गया। इसके बाद फिर से बैठक शुरू हो गई है। 
नेता प्रतिपक्ष राजेश सोनकर, विनय सक्सेना के नेतृत्व में राइट टाउन स्टेडियम को तोड़कर नए सिरे से बनाने के प्रस्ताव, लीज होल्ड, स्मार्ट सिटी एरिया के निवासियों पर लगने वाले टैक्स आदि मामले में सत्ता पक्ष पर सवाल उठा रहे हैं। उनका कहना है कि स्मार्ट सिटी के नाम पर कई ऐसे काम किए जा रहे हैं, जिनका बोझ टैक्स के रूप में पूरे शहर की जनता पर पड़ेगा। एमआईसी सदस्य भी कमलेश अग्रवाल, मनप्रीत सिंह आनंद, श्रीराम शुक्ला सहित अन्य पार्षद विपक्ष के सामने ढाल बनकर खड़े हुए हैं। 
Show More
Lali Kosta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned