वीडियो स्टोरी: मासूम के जख्मों ने सुनाई पुलिस की बर्बरता की कहानी, कांप गई रूह

सामने आयी आरपीएफ के जवानों का खौफनाक हरकत

By: Premshankar Tiwari

Updated: 19 Jan 2019, 06:01 PM IST

Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

जबलपुर/कटनी। पुलिस की ज्यादती से संबंधित मामले जब तब सामने आते रहते हैं, लेकिन कटनी जिला अस्पताल में शनिवार को ऐसा मामला सामने आया कि डॉक्टरों की भी रूह कांप गई। मामला एक 14 साल के मासूम बच्चे से जुड़ा है। बताया गया है कि मात्र संदेह के आधार पर जीआरपी ने इस बच्चे पर लूट का मामला दर्ज कर लिया। इसके बाद अपराध कबूल करने के लिए उसे इस हद तक पीटा कि उसकी हड्डियां तक टूट गईं। बालक अभी अस्पताल में इलाजरत है।

जीआरपी ने ऐसे पकड़ा
जानकारों के अनुसार भट्ठा मोहल्ला निवासी 14 वर्षीय निखिल वंशकार 15 जनवरी को कटनी के मुड़वारा रेलवे स्टेशन के समीप पतंग उड़ा रहा था। इसी दौरान उसकी पतंग कटनी मुड़वारा स्टेशन परिसर की तरफ चली गई। बालक पतंग लेने गया तो आरपीएफ कर्मियों ने उसे पकड़ लिया। कटनी मुड़वारा स्टेशन पर बने चौकी में ले गए। बालक ने बताया कि वह पतंग लेने आया था, लेकिन आरपीएफ कर्मियों ने उसकी एक न सुनी। बालक पर पत्थर मार के मोबाइल लूटने का प्रकरण दर्ज कर दिया और पुलिस हिरासत में 2 दिन तक बंद रखा।

दो दिन तक उल्टा लटकाया
बालक ने बताया कि इन 2 दिनों के दौरान कई बार उसे उल्टा लटकाया गया। आरपीएफ का जो भी जवान थाने में आता उसकी पिटाई करता। इतना मारे कि शरीर में पीठ से लेकर दूसरे अंगों पर भी डंडे से मार के निशान आ गए और बाएं पैर की हड्डी तक टूट गई। बालक को यह भी कहा गया कि किसी को बताया तो फिर मारेंगे और उसे इतना कह कर छोड़ दिया गया।

दहशत में छिपाया दर्द
बच्चा वहां से जैसे-तैसे घर पहुंचा। इसके बाद घर पर ही 3 दिन तक मां बालक का इलाज करती रही। दर्द कम नहीं हुआ तो शनिवार को जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। यहां डॉक्टर ने पूछा चोट कैसे आई तो बताया कि पत्थर से गिरने में लगा है। डॉक्टर ने का खरोच नहीं है सही बताओ कैसे चोट आई। तब बालक ने रोते हुए बताया और आरपीएफ कर्मियों की दानवता बाहर आई। बालक ने बताया कि कैसे आरपीएफ कर्मियों ने पीटा है। इस पूरे मामले में आरपीएफ के निरीक्षक दिनेश सिंह सोय ने बताया कि बालक ने सिपाही दिनेश पटेल को पत्थर मारा है, इसके बाद उसे हिरासत में लिया गया था।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned