इस अस्पताल में मरीजों को मिलती है देसी शराब!

इस अस्पताल में मरीजों को मिलती है देसी शराब!

By: Lalit kostha

Published: 24 Jul 2018, 10:40 AM IST

जबलपुर। ‘कायाकल्प’ के लिए गठित मॉनीटरिंग टीम ने सोमवार सुबह करीब 10 बजे झमाझम बारिश के बीच जिला अस्पताल में दस्तक दी। पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के सहायक संचालक आशीष दीक्षित के नेतृत्व में पहुंची टीम के सदस्य सीधे ओपीडी पहुंचे। चिकित्सकों की उपस्थिति जांची।

इस दौरान अधिकारियों की नजर ओपीडी की एंट्री के पास पड़ी, वहां शराब की बोतल रखी थी। इसे देखते ही अधिकारी का माथा ठनक गया। उन्होंने तत्काल सुरक्षा कर्मियों को तलब किया। शराब की बोतल को लेकर जवाब तलब किया। जिम्मेदार अधिकारियों और ठेकेदारों को नसीहत देते हुए कहा कि अगली बार गड़बड़ी मिलने पर अब सीधी कार्रवाई की जाएगी। वहीं मरीजों को लगने वाली ड्रिप और अन्य दवाओं की बॉटल की कमी पाई गई। जिसके बाद मौजूद कुछ लोगों ने चुटकी लेते हुए ये भी कहा कि मरीजों को इस अस्पताल में देशी शराब मिल जाती है, लेकिन ग्लूकोज की बॉटल नहीं मिलती।
news fact

विक्टोरिया अस्पताल के निरीक्षण में मिली खामियां
ओपीडी के सामने मिली शराब की बोतल
मैली चादरों पर लेटे थे मरीज
जानकारी के अनुसार टीम ने वार्डों में मरीजों से दवा की उपलब्धता और नर्सों के व्यवहार को लेकर फीडबैक लिया। उन्हें मरीज गंदे चादर में लेटे मिले। पूछने पर मरीजों ने बताया कि चादर सुबह ही बदले हैं। इतना सुनते ही उन्होंने अस्पताल के अधिकारियों पर नाराजगी जताई। उन्होंने तत्काल चादर साफ करने वाले ठेकेदार को उपस्थित होने के निर्देश दिए। उसे कड़ी फटकार लगाई और अधिकारियों को ठेकेदार पर जुर्माना के साथ ही चेतावनी जारी करने के निर्देश दिए।

अनुपस्थित कर्मियों का कटेगा वेतन
अस्पताल के निरीक्षण के बाद सहायक संचालक ने ज्वाइंट डायरेक्टर सोशल जस्टिस कार्यालय में दबिश दी। सुबह 10.50 बजे कार्यालय खुला था, लेकिन अधिकांश कर्मचारियों की कुर्सी खाली थीं। तेज बारिश के बीच कर्मचारियों से पहले अधिकारी के पहुंचने की सूचना मिलने पर कई कर्मचारी दौड़ते-भागते कार्यालय पहुंचे। इस पर सहायक संचालक ने कर्मचारियों को फटकार लगाई। अनुपस्थित सात कर्मचारियों के आधे दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया है।

Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned