Pausha Putrada Ekadashi 2020: पुत्रदा एकादशी आज, संतान सुख की कामना के लिए करें भगवान विष्णु की पूजा: पंचांग

पुत्रदा एकादशी आज, संतान सुख की कामना के लिए करें भगवान विष्णु की पूजा: पंचांग

 

By: Lalit kostha

Published: 06 Jan 2020, 10:09 AM IST

जबलपुर। शुभ विक्रम संवत् : 2076, संवत्सर का नाम : परिधावी, शाके संवत् : 1941, हिजरी संवत् : 1441, मु.मास: ज: उलअव्वल 10, अयन : दक्षिणायन, ऋतु : हेमंत, मास : पौष, पक्ष : शुक्ल
तिथि - रात्रि 1.36 तक नंदा तिथि एकादशी उपरांत भद्रा तिथि द्वादशी रहेगी। नंदा तिथि में सभी प्रकार के मांगलिक कार्य संपादित किये जा सकते हैं। इस तिथि में लग्र शुद्धि तथा समय शुद्धि होने पर ग्रहप्रवेश, गृहनिर्माण, तथा विवाह जैसे कार्य सम्पादित किये जा सकते हैं, वहीं भद्रा तिथि भी इन कार्यों हेतु अत्यंत उपयुक्त मानी जाती है।
योग- रात्रि 10.28 तक साध्य उपरांत शुभ योग रहेगा। दोनों ही नैसर्गिक योग सामान्य रहेंगे।
विशिष्ट योग- तिथि गणना तथा योग गणना के आधार पर आज का दिन सभी प्रकार के दैनिक कार्य हेतु शुभ रहेगा।
करण- सूर्योदय काल से वणिज उपरंात विष्टि तदनंतर बणिज करण का प्रवेश होगा करण सामान्य है।
नक्षत्र- उग्रसंज्ञक ऊध्र्वमुख नक्षत्र भरणी दोपहर 12.20 तक उपरांत साधारण संज्ञक कृत्तिका नक्षत्र रहेगा। भरणी नक्षत्र में कारीगरी, शिल्प विद्या, चित्रकला, मशीनरी, जलयंत्र निर्माण, देवदर्शन, तीर्थयात्रा एवं जन हतैषी कार्यों हेतु यह नक्षत्र अत्यंत उपयुक्त माना जाता है। विपणि व्यापार हेतु भी यह नक्षत्र उपयुक्त माना जाता है।



Today  <a href=Panchang 3 february 2019: जानिए रविवार को कब लगेगा राहु काल, कब है शुभ मुहूर्त" src="https://new-img.patrika.com/upload/2019/02/02/panchang_today_5603392-m.jpg">

शुभ मुहूर्त - आज धान्य रोपण, कृषि यंत्र निर्माण क्रय विक्रय, मशीनरी, जलयंत्र निर्माण, पत्रलेखन, अनाज भंडारण, पशुचिकित्सा जैसे कार्य अत्यंत शुभ तथा मंगलकारी रहेंगे।
श्रेष्ठ चौघडि़ए- आज प्रात: 9.00 से 10.30 बजे तक शुभ दोपहर 1.30 से 6.00 चर लाभ एवं अमृत एवं रात्रि 6.00 से 7.30 तक शुभ की चौघडिय़ा शुभ तथा मंगलकारी मानी जाती है।
व्रतोत्सव- आज पुत्रदा एकादशी का व्रत व्रतोत्सव पर्व रहेगा, आज के दिन भगवान विष्णु का पूजन करना परम कल्याणकारी रहेगा।
चन्द्रमा: रात्रि 6.42 तक मेष राशि में उपरांत शुक्र प्रधान राशि वृष राशि में संचरण करेगा।
्रग्रह राशि नक्षत्र परिवर्तन: सूर्य के धनु राशि में गुरु धनु राशि में तथा शनि धनु राशि के साथ सभी ग्रह यथा राशि पर स्थित हैं, सूर्य का पूर्वाषाढ़ नक्षत्र में संचरण रहेगा।
दिशाशूल: आज का दिशाशूल पूर्व दिशा में रहता है, इस दिशा की व्यापारिक यात्रा को यथा सम्भव टालना हितकर है। चन्द्रमा का वास पूर्व दिशा में है, सन्मुख एवं दाहिना चन्द्रमा शुभ माना जाता है।
राहुकाल: प्रात: 7.30.00 बजे से 9.00.00 बजे तक। (शुभ कार्य के लिए वर्जित)
आज जन्म लेने वाले बच्चे - आज जन्मे बालकों का नामाक्षर ली,लू,ले,ला अक्षर से आरंभ कर सकते हैं। भरणी नक्षत्र में जन्मे बालकों की राशि मेष तथा राशि स्वामी मंगलहोते हंै। मेष राशि में जन्मे जातकों का स्वभाव प्राय: उदार, चंचल, शिक्षित, धार्मिक, अनुशासन प्रिय, कार्यकुशल, निर्भीक, जागरुक, जन हितैषी, प्रखर वक्ता, आत्म विश्वासी तथा हंसमुख प्रवृत्ति का होता है। जीवन में कठिन चुनौतियोंं ंमें हार नहीं मानते हैं।

Show More
Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned