rail police raid: फोटो कॉपी शॉप पर छापा, सवा दो लाख रुपए के अवैध ई-टिकट बरामद

रेल पुलिस के क्राइम ब्रांच की कार्रवाई, एक गिरफ्तार

 

By: Lalit kostha

Published: 20 Jun 2021, 03:17 PM IST

जबलपुर। रेल पुलिस की अपराध खुफिया शाखा ने शनिवार को एक फोटोकॉपी की दुकान पर छापा मारकर, ई-टिकटों की कालाबाजारी का बड़ा खुलासा किया है। मौके से लगभग सवा दो लाख रुपए की ई-टिकट बरामद की है। अवैध तरीके से टिकट बुक करके बेचने के आरोप में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। रेल पुलिस की अचानक की गई कार्रवाई से रेल टिकट दलालों में हडक़ंप मच गया। इस मामले के बाद रेल क्राइम ब्रांच ने शहर के कुछ और प्राइवेट रेल टिकट बुकिंग एजेंट्स की गतिविधियों पर भी निगरानी बढ़ा दी है।

एजेंट होने के बावजूद दो पर्सनल आइडी से बना रहा था टिकट
रेल पुलिस की अपराध खुफिया शाखा प्रभारी अनुराधा मिश्रा के निर्देश पर एक टीम ने सिविल लाइंस स्थित सम्राट फोटोकॉपी दुकान पर छापेमारी की। जहां, छानबीन में कई ट्रेनों की तैयार ई-टिकट मिली। ये टिकट दो पर्सनल आईडी से बुक की गई थी। मौके पर 155 ई-टिकट बरामद हुई है। इसकी कीमत 2 लाख 22 हजार रुपए है। मौके से साउथ सिविल लाइंस निवासी 29 वर्षीय सम्राट हालदार को गिरफ्तार किया है। युवक आइआरसीटीसी का अधिकृत एजेंट है। इसके बावजूद वह आइआरसीटीसी की बजाय पर्सनल आईडी से लोगों के लिए ई-टिकट बुक कर रहा था।

गड़बड़ी की भनक के बाद से निगरानी में था एजेंट
अनलॉक के बाद ट्रेनों का संचालन बढऩे के साथ यात्री लगातार बढ़ रहे हैं। अभी आरक्षित टिकट पर ही यात्रा करने की अनुमति होने से ई-टिकट की बिक्री में वृद्धि हुई है। इस पर एजेंटों के पास अपेक्षाकृत कम टिकट बुक हो रहे थे। इस पर अपराध खुफिया शाखा लगातार नजर बनाए हुए थी। अपराध खुफिया प्रभारी अनुराधा मिश्रा को दो पसनल आइडी से ज्यादा टिकट बुक होने का पता चला तो संदेह हुआ। इस पर एएसआइ मोहन द्विवेदी, प्रधान आरक्षक सोबरन सिंह, जीपी गौतम और आरक्षक शरद परोहा, अंसार अहमद मंसूरी की टीम को जांच के लिए भेजा। छानबीन में एजेंट द्वारा अनाधिकृत तरीके से पर्सनल आईडी से ई रेल टिकट बुक करते पकड़ा गया।

Show More
Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned