अब भी प्यासे हैं हजारों कंठ

दूसरे दिन भी चला सुधार कार्य, आज से जलापूर्ति हुई किंतु कई क्षेत्र अब भी प्यासे, नगर निगम के जल विभाग ने रमनगरा प्लांट से एक पम्प चालू किया

जबलपुर। रमनगरा वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से आधे शहर को पानी पहुंचाने वाली राइजिंग लाइन का लीकेज बुधवार को सुधार लिया गया। 1300 एमएम की राइजिंग लाइन के जीपीआर पाइप में सुधार होने के बाद देर शाम टेस्टिंग शुरू कर दी गई। हालांकि, टंकियां भरने के लिए प्लांट से एक ही पम्प चालू किया गया। टंकियों में पानी भरने के बाद शाम को आंशिक जलापूर्ति शुरू की गई। गुरुवार सुबह अधिकतर क्षेत्रों में पानी की सप्लाई हुई, विजय नगर, गढ़ा, चेरीताल सहित कई क्षेत्रों में पानी नहीं पहुंचा। जबकि जल विभाग के अधिकारियों ने कहा था कि गुरुवार से जलापूर्ति पूरी तरह बहाल हो जाएगी। रमनगरा प्लांट से पानी की 17 टंकियां भरी जाती हैं। राइजिंग लाइन में लीकेज के कारण इन टंकियों में तीन दिन से पानी नहीं भर पा रहा था। इसके चलते गढ़ा के आस-पास की 25 से ज्यादा कॉलोनियों में पानी की त्राहि-त्राहि मची थी।  
अक्सर फट जाती है पाइप लाइन
रमनगरा वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से 2013 में जलापूर्ति शुरू हुई, लेकिन दो साल में ही 17 बार से ज्यादा इसमें लीकेज हो चुका है। एेसे में इसकी पाइप की गुणवत्ता पर सवाल उठने लगे हैं।  
चैकिं ग का सिस्टम नहीं
शहर में सड़कों का चौड़ीकरण होने के साथ ही कई जगह राइजिंग लाइन को अंडरग्राउंड कर दिया गया। एेसे में कभी भी केबल बिछाने या किसी अन्य काम के लिए सड़क की खुदाई होती है, तो वहां पहले इसकी जांच होना चाहिए कि जमीन के अंदर राइजिंग लाइन तो नहीं, लेकिन निगम के पास इस तरह की कोई व्यवस्था नहीं है। इसकी वजह से मनमाने तरीके से जेसीबी या पोकलेन मशीन से सड़क की खुदाई होने पर राइजिंग लाइन फू ट जाती है।
लीकेज दुरुस्त
पाइप में सुधार कर राइजिंग लाइन का लीकेज दुरुस्त कर लिया गया है। शाम को रमनगरा प्लांट में एक पम्प चालू कर पानी की टंकियां भरी जाएंगी। गुरुवार सुबह से पूरी तरह जलापूर्ति बहाल हो जाएगी।
राजवीर नयन, कार्यपालन यंत्री, जल विभाग, नगर निगम
Show More
जबलपुर ऑनलाइन
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned