scriptpoison in health, no hi-tech lab in jabalpur | मिलावट के ‘जहर’ का सेहत पर असर, हाईटेक लैब बनी सपना | Patrika News

मिलावट के ‘जहर’ का सेहत पर असर, हाईटेक लैब बनी सपना

मिलावट के ‘जहर’ का सेहत पर असर, हाईटेक लैब बनी सपना

 

जबलपुर

Published: December 18, 2021 12:53:07 pm

मनीष गर्ग@जबलपुर। मिलावट के ‘जहर’ से आम लोगों को बचाने के लिए सरकार के तमाम दावे हैं। लगातार अभियान चलाए जा रहे हैं, परंतु नमूने जिस हिसाब से लिए जा रहे हैं उसकी समय पर रिपोर्ट नहीं आ रही है। नमूनों की जांच रिपोर्ट लंबित होने के कारण मिलावटखोरों पर प्रभावी कार्रवाई नहीं हो पा रही है। प्रदेश में मिलावट की त्वरित जांच के लिए जबलपुर सहित चार संभाग में लैब खोली जानी थी, लेकिन समय सीमा पूरी हो जाने के बाद भी ये लैब शुरू नहीं हो सकी।

poison in health
demo pic

40 से ज्यादा नमूनों की जांच वर्ष 2019-20 में पेंडिंग
60 से 90 मिलावट के नमूने जिले से अभी हर माह जा रहे
01 लैब मिलावट की जांच के लिए डुमना में बन रही

मिलावट रोकने के लिए ईट राइट चैलेंज चलाया जा रहा है। लेकिन हालत यह है कि विभाग के पास अभी जिले से ही 2019-20 तक के नमूनों की जांच पेंडिंग है। इसमें से कुछ नमूने भोपाल की लैब में नमूने खराब हो गए। उन नमूनों की स्थानीय कार्यालय से नमूनों की सेकेंड कापी मांगी जा रही है। जिले के लगभग 40 से ज्यादा सेंपल ऐसे हैं जिनकी रिपोर्ट एक से दो वर्ष बीत जाने के बाद भी नहीं आई। जिले में लगभग 15 करोड़ रुपए की लागत से मिलावट की जांच के लिए लैब शुरू होना है जिसका भवन निर्माण हो गया है परंतु अब तक उपकरण नहीं आए हैं। जबलपुर में लैब शुरू होने का कार्य कांग्रेस शासनकाल में 2019 में शुरू हुआ था और 12 माह में इसका कार्य पूरा होना था।

Foods For Glowing Skin

अप्रेल 2021 में शुरू हो जानी थी लैब, भवन तैयार, उपकरणों का इंतजार

निजी लैब को हो रहा करोड़ों का भुगतान
प्रदेश में अभी एक ही सरकारी लैब है। जिसकी क्षमता प्रतिवर्ष 25 सौ नमूने जांचने की है जबकि मौजूदा स्थिति में प्रदेश भर से वर्ष में 10 हजार से ज्यादा नमूने यहां पहुंच रहे हैं। नमूनों की संख्या बढऩे पर विभाग द्वारा इंदौर की एक निजी लैब से करार किया गया है। जिसके लिए पांच हजार प्रति नमूने की दर से तक भुगतान किया जा रहा है। इसके बाद भी समय पर रिपोर्ट नहीं आती। वहीं निजी लैब से जांच में रिपोर्ट प्रभावित होने का भी संदेह रहता है।

जिले में घी और मसालों की मिलावट ज्यादा
खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के द्वारा हाल एक सूची जारी की गई है। इसमें प्रदेश में जबलपुर को सबसे ज्यादा नकली घी एवं मसालों की मिलावट के लिए संवेदनशील माना गया है। इसके अलावा यहां हर तरह के मिलावट के मामले सामने आए हैं।

Food poisoning
IMAGE CREDIT: patrika

ये हो रहा नुकसान

जांच रिपोर्ट में देरी का लाभ मिलावटखोरों को मिलता है। कई मामलों में विभाग द्वारा लापरवाही व गड़बड़ी मिलने पर फैक्ट्री व दुकानों को सील किया गया परंतु समय पर रिपोर्ट नहीं आई। जिस कारण आरोपियों को राहत मिल जाती है। रिपोर्ट में देरी होने से सम्बन्धित मिलावटखोर पर दो से डेढ़ वर्ष बाद मुकदमा दायर करना पड़ रहा है।

आम उपभोक्ता भी करा सकेगा जांच

जबलपुर में लैब प्रारंभ होने से आसपास के जिलों से तो नमूने आएंगे ही वहीं आम उपभोक्ता भी मिलावट के संदेह पर नमूनों की जांच करा सकेगा। उपभोक्ता दस रुपए का शुल्क देकर नमूनों की जांच करा सकेगा।

मिलावट जांचने के लिए लिए बन रही लैब के भवन का कार्य पूरा हो गया है। उपकरण आने है। उपकरण आने के बाद लैब शुरू हो जाएगी। प्रदेश में जो लैब निर्माणाधीन है उसमें जबलपुर की लैब का काम तेज गति से हो रहा है।
देविका सोनवानी, वरिष्ठ खाद्य सुरक्षा अधिकारी, जबलपुर


खाद्य सामग्री में मिलावट की जांच के लिए भवन निर्माण अंतिम चरण में है। भवन के निरीक्षण व मशीनरी की आवश्यकता व लैब शुरू करने के लिए दिल्ली से एफएसएसएआई व फूड एंड ड्रग विभाग की भोपाल की टीम ने निरीक्षण किया।
अशीष पांडे, एसडीएम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.