विधायक के दबाव में आकर पुलिस पर कार्रवाई करने का आरोप

किवलारी ग्राम में जमीन पर कब्जे का मामला : गोसलपुर पुलिस ने छह लोगों पर दर्ज किया बलवा का प्रकरण

By: sudarshan ahirwa

Published: 07 Jul 2019, 01:20 AM IST

जबलपुर. सिहोरा. गोसलपुर के किवलारी गांव में शासकीय जमीन पर कब्जे को लेकर हुए हंगामा के बाद आधा दर्जन लोगों पर दर्ज किए गए मामले के खिलाफ ग्रामीणों ने सिहोरा एसडीओपी कार्यालय के सामने शनिवार को विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान ग्रामीणों के साथ जय रेवाखंड के सदस्यों ने भी सिहोरा विधायक के खिलाफ नारे लगाते हुए पुलिस पर दबाव में आकर कार्रवाई करने का आरोप लगाया।

ग्रामीणों के साथ दोपहर एक बजे सिहोरा एसडीओपी कार्यालय पहुंचे जय रेवाखंड के जिला अध्यक्ष सुमित राय, नगर अध्यक्ष भालू चौरसिया, दीपक तिवारी राकेश पाठक, जय नारायण खरे, गणेश प्रसाद सेन, दद्दू चौरसिया ने सिहोरा विधायक और पुलिस के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए आरोप लगाया कि पुलिस ने विधायक की शिकायत पर आधा दर्जन लोगों के खिलाफ बिना जांच के बलवा और एससी-एसटी एक्ट का मामला दर्ज कर लिया। जिन लोगों पर पुलिस ने मामला दर्ज किया है वह मौके पर मौजूद ही नहीं थे। लोगों ने यह भी आरोप लगाया कि जिस जमीन पर कब्जे की बात की जा रही है, उसके बाजू में ही विधायक के रिश्तेदार की निजी जमीन है, क्योंकि जमीन एनएच से लगी हुई है, जिसकी कीमत करोड़ों में है।

शिकायत पर नहीं की कार्रवाई
प्रकाश सेन, अमन पाठक, शिवम शुक्ला महेश तिवारी, आयुष यादव, जित्तू ठाकुर सौरभ पटेल, निक्की जैन, दुर्गेश यादव शिवम बर्मन, शिवम चौबे, अजीत चौधरी, निहाल बर्मन, घनश्याम सेन, शुभम कुशवाहा, नितिन कुशवाहा, सुमित पांडे, मोहन, दुर्गेश कुशवाहा, पंकज ठाकुर ने एसडीओपी भावना मरावी को दी शिकायत में आरोप लगाया है कि पुलिस विधायक के दबाव में काम कर रही है, जबकि संबंधित जमीन पर कब्जे की शिकायत दो जुलाई को लोगों ने गोसलपुर पुलिस को दी थी। इसके बावजूद पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। एसडीओपी सिहोरा भावना मरावी ने मामले की निष्पक्ष जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन रेवाखंड के प्रतिनिधियों को दिया।

sudarshan ahirwa
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned