गैंग के तीन गुर्गे गिरफ्तार, पिस्टल-कारतूस जब्त

क्राइम ब्रांच और गोरखपुर पुलिस की संयुक्त कार्रवाई

By: shivmangal singh

Published: 28 May 2020, 07:48 PM IST

जबलपुर. ओमती थाना अंतर्गत रसल चौक निवासी बदमाश अनिराज नायडू जेल से छूटे हत्या के प्रयास मामले के आरोपी सहित दो अन्य के साथ आपराधिक गतिविधियों में लिप्त है। इसका खुलासा गुरुवार को क्राइम ब्रांच और गोरखपुर पुलिस की संयुक्त टीम की कार्रवाई में हुआ। टीम ने दशमेश द्वार के पास दबिश देकर गैंग के एक गुर्गे को दबोच लिया। सरगना अनिराज नायडू भाग गया। पुलिस ने आरोपी से पूछताछ के बाद दो अन्य बदमाशों को पिस्टल और कारतूस के साथ गिरफ्तार किया।

गोरखपुर टीआई उमेश तिवारी ने बताया कि मुखबिर से सूचना दी कि बदमाश अनिराज नायडू शारदा अपार्टमेंट गोरखपुर निवासी राकेश पांडे उर्फ सोनू के साथ दशमेश द्वार के पास पिस्टल-कारतूस के साथ पहुंचा है। टीम ने दबिश दी तो नायडू भाग गया, जबकि राकेश को गिरफ्तार कर लिया गया। उसके पास से पिस्टल और कारतूस बरामद हुए। पूछताछ में राकेश ने बताया, पिस्टल अनिराज की है। एक पिस्टल खटीक मोहल्ला, बेलबाग निवासी बबल सोनकर के पास है। टीम ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया। बबल ने बताया कि उसने चाचा की पिस्टल चुरा ली थी। चाचा की चार वर्ष पहले मौत हो चुकी है। उसने लार्डगंज निवासी बदमाश मुकेश उर्फ मुक्कू पटेल के पास भी पिस्टल होने की जानकारी दी। टीम ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया। वह हाल ही में हत्या के प्रयास के मामले में जेल से छूटा है। उसने बताया कि गढ़ा में हुई हत्या के प्रकरण में उसने जेल में बंद राहुल विश्वकर्मा से पिस्टल ली थी।

पुलिस ने बताया कि नायडू के खिलाफ विजय नगर, ओमती में हत्या के प्रयास, कोतवाली में गवाह को धमकाने, लूट व तोडफ़ोड़ के कई प्रकरण न्यायालय में विचाराधीन हैं। मुक्कू पटेल भी लार्डगंज का शातिर बदमाश है। उसके खिलाफ मारपीट, हत्या के प्रयास, चोरी के कई प्रकरण विचाराधीन है।

shivmangal singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned