सोनू पटेल हत्याकांड का राजफास

-शादी के चौथे दिन जंगल में मिला था शव
- पुलिस की सुई प्रेमप्रपंच पर आकर टिकी
-आरोपी बहनें हिरासत में

By: Ajay Chaturvedi

Published: 11 Jun 2021, 12:19 PM IST

जबलपुर. शादी के चौथे दिन जिस युवक का शव जंगल की झाड़ियों में मिला था, 19 दिन बाद उसका राजफास पुलिस ने कर दिया है। बताया जा रहा है कि युवक की हत्या प्रेमप्रपंच में हुई थी। और तो और हत्या उसकी पूर्व प्रेमिका ने की थी।

बता दें कि शादी के चौथे दिन पत्नी का मोबाइल बनवाने के नाम पर घर से निकले सोनू का शव चार दिन बाद घर से करीब 15 किलोमीटर दूर हरगढ़ के जंगल की झाड़ियो में मिला था। उस घटना के बाद से पुलिस लगातार तफ्तीश में लगी रही। बताया जा रहा है कि पुलिस को सोनू की हत्या के मामले में सब कुछ ज्ञात हो गया है। पुलिस के मुताबिक सोनू की हत्या उसकी प्रेमिका ने अपनी बहन के साथ मिलकर की थी। दरअसल वह सोनू से प्यार करती थी ऐसे में सोनू की शादी को वह पचा नहीं पाई और बहन के साथ मिल कर उसका काम तमाम कर दिया।

जानकारी के मुताबिक प्रेमिका ने ही सोनू को धोखे से बुलाया था। फिर बहन के साथ मिलकर सोनू का गला रस्सी से कस कर मार डाला था। सूत्रों की माने तो खितौला पुलिस ने दोनों बहनों को हिरासत में ले लिया है। पुलिस सूत्रों की माने तो इस हत्या प्रकरण में सोनू की नई नवेली पत्नी के बयान ने बहुत मदद की।

ये भी पढ़ें- शादी के चौथे दिन से ही लापता सोनू का जंगल की झाड़ियो में मिला शव

बताया जा रहा है कि जिस लड़की पर सोनू की हत्या का मामला बन रहा है उससे सोनू प्यार करता था। दोनों ने विवाह कर एक साथ जीने- मरने की कसमें खाई थीं। लेकिन इसी बीच सोनू ने दूसरी लड़की से शादी कर ली जो प्रेमिका को नागवार गुजरा। यहां तक कि उसने सोनू की नवविवाहिता से भी अपने संबंधों का खुलासा कर दिया था। उसके बाद पति-पत्नी में तकरार भी हुई थी।

बता दें कि सोनू पटेल का जोश नरकंकाल के रूप में मिला था, उसके गले में जूट की रस्सी लिपटी थी। थोड़ी दूरी पर बियर की केन पड़ी मिली थी। उसके चप्पल और फटे कपड़े भी पड़े थे। पुलिस ने नरकंकाल और घटनास्थल की फोटो को मेडिकोलीगल इंस्टीट्यूट भोपाल भेजा था। वहां एक्सपर्ट टीम ने ढांचे को रिक्रिएट कर अपना अभिमत दिया था। इस रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि होने के बाद खितौला पुलिस ने 10 जून की रात में प्रकरण में हत्या का मामला दर्ज किया।

यहां यह भी बता दें कि सोनू की शादी 12 मई को हुई थी। शादी के चार दिन बाद 16 मई को वह मोबाइल बनवाने के नाम पर घर से सिहोरा जाने की बात कहकर निकला था। इसके बाद से उसका पता नहीं चल रहा था। सिहोरा में 16 मई की देर रात 11.50 बजे बड़े भाई नारायण पटेल ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। फिर 24 मई को लापता युवक का नरकंकाल जंगल में मिला था जिसकी शिनाख्त सोनू के पिता ने अपने बेटे के रूप में की थी।

लापता युवक का नरकंकाल मिलने की सूचना पर एसडीओपी श्रुतकीर्ति सोमवंशी, एएसपी शिवेश सिंह बघेल और एफएसएल टीम मौके पर पहुंची थी। युवक का नरकंकाल 50 मीटर के क्षेत्र में फैला मिला था। हालांकि घटनास्थल पर उसका मोबाइल नहीं मिला था। पुलिस पहले ये मानकर चल रही थी कि सोनू ने मोबाइल बंद कर कहीं फेंक दिया होगा।

Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned