पुलिस आपकी मदद के लिए है- कृपया शिकायत के बाद फोन बंद न करें, वीडियो में देखे क्या कह रहे है पुलिस अधिकारी

पुलिस आपकी मदद के लिए है- कृपया शिकायत के बाद फोन बंद न करें, वीडियो में देखे क्या कह रहे है पुलिस अधिकारी

deepankar roy | Publish: Nov, 15 2017 05:34:37 PM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय सिहोरा में पुलिस ने छात्र-छात्राओं को बताए अधिकार और कर्तव्य

जबलपुर/सिहोरा। एक मनचले ने एक लड़की के मोबाइल पर फोन किया। उससे अश£ील बातें करने लगा। परेशान होकर लड़की ने पुलिस के हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत की। लड़की की शिकायत पर तहकीकात के लिए पुलिस ने उसके नंबर पर कॉल किया। लेकिन उसका मोबाइल नंबर बंद बताता रहा। अक्सर किशोरी और युवतियां छेडख़ानी और छींटाकशी की शिकायत हेल्पलाइन नंबर पर करने के बाद अपना मोबाइल बंद कर लेती है। इससे पुलिस मनचलों तक नहीं पहुंच पाती है। ऐसा बिल्कुल न करें। ये बातें सिहोरा थाना प्रभारी संजय दुबे ने शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय में जन संवाद के दौरान छात्र-छात्राओं से कही। उन्होंने छात्र-छात्राओं से बात करते हुए कहा कि पुलिस आपकी सहायता के लिए है। कहीं भी अपराध हो रहै है तत्काल सूचित करें। आपका नाम गोपनीय रखा जाएगा।
इन नंबर पर करें कॉलेज
पुलिस अधिकारी ने कहा कि छात्राओं को कई बार सड़क चलते छींटाकशी और छेडख़ानी का शिकार होना पड़ता है। लेकिन वे मनचलों के खिलाफ शिकायत दर्ज नहीं कराती है। यदि ऐसी घटनाओं पर छात्राएं तत्काल शिकायत करें तो मनचलों को पकड़ा जा सकता है। उन पर नियमानुसार कार्रवाई करके सबक सिखाया जा सकता है। उन्होंने छात्र-छात्राओं से कहा कि किसी भी तरह की परेशानी होने पर 100 डायल, महिला हेल्पलाइन नंबर 1090, चाइल्ड केयर हेल्पलाइन नंबर 1098 पर अपनी शिकायत सीधे दर्ज करा सकती हैं। पुलिस तत्परता मौके पर पहूचकर आरोपियों को दबोच लेगी।
हेलमेट पहनकर ही चलाए वाहन
एसडीओपी अशोक तिवारी, महिला एसआई प्रीती मिश्रा ने छात्राओं को अशिक्षा, यौन हिंसा, भ्रूण हत्या, महिलाओं के प्रति घरेलू हिंसा, मानव तस्करी, पीछा करना, लैंगिक उत्पीडऩ को लेकर भारतीय दंड संहिता के बारे में बताया। साथ ही 18 वर्ष से कम उम्र तक लायसेन्स के वाहन नही चलाने, परिजनों को हेलमेट पहनकर वाहन चलाने के लिए प्रेरित करने की बात कही। इस दौरान छात्र-छात्राओं ने भी पुलिस को लेकर कई सवाल किए। इन सभी सवालों का पुलिस अधिकारियों ने जवाब दिया। बच्चों की जिज्ञासाओं को शांत किया।

Ad Block is Banned