आरक्षक ने दी ड्यूटी कर रहे साथियों को मारने की धमकी, दो बेटों समेत तीनों पर एससी, एसटी 188 का मामला दर्ज

आरक्षक रशीद ने दी ड्यूटी कर रहे साथियों को मारने की धमकी, दो बेटों समेत तीनों पर एससी, एसटी 188 का मामला दर्ज

By: Lalit kostha

Updated: 23 Apr 2020, 01:28 PM IST

जबलपुर। जबलपुर में पिछले एक सप्ताह में कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी दर्ज की जा रही है। बुधवार शाम को मिले 4 मरीजों के बाद कुल संख्या 31 तक पहुंच गई है। जिसको लेकर प्रशासन, पुलिस और स्वास्थ्य विभाग हर संभव प्रयास करने में जुटा है कि इसकी संख्या स्थिर रहे, बल्कि ये खत्म हो जाए। बावजूद इसके कई जिम्मेदार भी लापरवाही बरतने में पीछे नहीं है। ताजा मामला एक पुलिस कर्मचारी व उसके बेटों का सामने आया है। उक्त पुलिस कर्मचारी लॉक डाउन का उल्लंघन करते पाया गया था, साथ ही उसके द्वारा ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मचारियों से बदतमीजी भी की। मारपीट करने की धौंस देते हुए ड्यूटी कर रहे पुलिस वालों को बेटों ने भी धमकाया। इसके बाद तीनों पर पुलिस ने मामला दर्ज करा दिया है।

- सिपाही ,उसके दो पूत्रों के खिलाफ प्रकरण दर्ज ,
- पुलिस से मारपीट ,धक्का मुक्की, एससी, एसटी एक्ट भी कायम



BREAKING Maha Corona: मुंबई में कोविद-19 का होगा जबर्दस्त विस्फोट, 6 लाख 56 हजार होगी मरीजों की संख्या...

हनुमानताल थाना इलाके में कल देर रात पुलिस लॉक टाउन का पालन कराने निकली,तभी सिपाही रशीद अपने परिवार को लेकर घर के सामने बैठा मिला। पुलिस ने उसे घर के भीतर जाने कहा तो वह बहस करने लगा। रसीद पुलिस को खुद पुलिस वाला होने की धमकी देते हुए पुलिस वालों को ही धमकाने लगा। धौंस देते हुए उन्हें देख लेने की बात भी कही।
हनुमानताल थाने में पदस्थ सिपाही कमल चौधरी ने कहा जब तुम ही नही पालन करोगे तो रशीद अपना आपा खो गया। वरिष्ट अधिकारियों की धौस देकर मारपीट करने पर उतारू हो गया। किसी तरह से मौके पर मामला सामान्य होने पर पुलिस के आला अफसर पहुंचे। अधिकारियों ने रशीद को फटकार लगाते हुए कहा कि जब लॉक डाउन में सिपाही ही ऐसा बर्ताव करेगा तब बाकी जनता नियमों का पालन कैसे करेगी। आनन फानन में सिपाही कमल की रिपोर्ट पर पुलिस ने धारा 253,506 ,353,एससी, एसटी और 188 का प्रकरण दर्ज किया। रशीद उसके दो पुत्रों को भी आरोपी बनाया गया है, मामले के बाद ही रशीद व उसके बेटे फरार बताए जा रहे हैं, जिनकी तलाश जारी है।

Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned