scriptPolitics intensifies in MP on Birsa Munda Jayanti | बिरसा मुंडा जयंती पर MP में सियासत गर्म | Patrika News

बिरसा मुंडा जयंती पर MP में सियासत गर्म

-आदिवासी समाज को अपने पाले में लाने को कांग्रेस व भाजपा में रस्साकसी
-भोपाल में पीएम मोदी तो जबलपुर में दिग्विजय सिंह व कमलनाथ साधेंगे निशाना

जबलपुर

Updated: November 16, 2021 11:34:44 am

जबलपुर. देश के आदिवासी समाज के सिरमौर बिरसा मुंडा की जयंती पर सोमवार को MP में सियासी पारा चढ़ गया है। आदिवासी समाज को अपने पाले में लाने को कांग्रेस और भाजपा में जबरदस्त रस्साकसी देखी जा रही है। एक तरह से इसे 2023 के विधानसभा और 2024 के लोकसभा चुनाव की तैयारी के रूप में देखा जा रहा है। इसके तहत ही आज जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भोपाल में पार्टी के आदिवासी सम्मेलन में भोपाल, मध्य प्रदेश के बहाने देश भर के आदिवासी समाज और अति पिछड़ों को साधने की कोशिश करेंगे तो वहीं जबलपुर में कांग्रेस के दो धुरंधर, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और कमलनाथ आदिवासी समाज को अपने पाले में बनाए रखने की कोशिश करेंगे।
Politics intensifies in MP on Birsa Munda Jayanti
Politics intensifies in MP on Birsa Munda Jayanti
बता दें कि मध्य प्रदेश में एक करोड़, 53 लाख, 16,784 आदिवासी आबादी है, जो सूबे की कुल जनसंख्या का 21.5 प्रतिशत होता है। प्रदेश की 47 विधानसभा सीटें जनजातियों के लिए आरक्षित हैं तो 87 आदिवासी ब्लॉक भी हैं। आदिवासी समाज काफी पहले से कांग्रेस समर्थक रहा लेकिन बीच में कुछ समय के लिए वो कांग्रेस से नाराज हुए लेकिन जल्द ही वापसी भी हो गई। राजनीतिक पंडितों की मानें तो 2018 के विधानसभा चुनाव में आदिवासियों ने ही कांग्रेस को सत्ता तक पहुंचाया था। तब आदिवासी समाज ने कांग्रेस की झोली में 15 सीटें डाली रहीं।
ऐस में कांग्रेस के धुरंधरों की पूरी कोशिश है कि वो किसी भी तरह से इस वोट बैंक को हाथ से फिसलने न दें। इसी सोच के साथ पिछले दिनों जब केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की मौजूदगी में पार्टी ने शंकरशाह-कुंवर रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस पर महा सम्मेलन आयोजित किया था, तब कांग्रेस ने अलग से कार्यक्रम आयोजित कर शंकरशाह व कुंवर रघुनाथ शाह का बलिदान दिवस मनाया था।
ये भी पढें- दिग्गज कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भाजपा के आदिवासी प्रेम को बताया छलावा, उठाए सवाल

उस वक्त भी दिग्गज कांग्रेसियों ने बीजेपी के आदिवासी सम्मेलन से आदिवासियो को बाहर किए जाने, यहां तक कि मध्य प्रदेश सरकार के वन मंत्री विजय शाह को मालगोदाम में और फिर मंच पर जगह न दिए जाने के मसले को जोर-शोर से उठाया था। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस महासचिव दिग्विजयनाथ ने रविवार 14 नवंबर को पुनः उस मसले को मीडिया के सामने उठाया। इस मौके पर दिग्विजय सिंह ने भाजपा पर आदिवासियों के संग महज राजनीति करने का आरोप लगाया। उन्होंने जबलपुर, सीधी के प्रकरणों को भी उठाया साथ ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के विधानसभा क्षेत्र की घटना को भी उठाते हुए ये आरोप लगाया कि प्रदेश में आदिवासी समाज सबसे ज्यादा प्रताड़ित है।
अब दिग्विजय सिंह तो रविवार को ही जबलपुर पहुंच कर आदिवासी समाज के इस बड़े सम्मेलन की तैयारी में जुटे हैं। वहीं एक अन्य पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ भी सोमवार को जबलपुर में आयोजित कांग्रेस के उस कार्यक्रम को धार देने वाले हैं जो आदिवासी समाज को प्रमुख नेतृत्व प्रदान करने और उनके हक व हुकूक की आवाज बुलंद करने वाले बिरसा मुंडा की जयंती पर आयोजित किया गया है। इस आयोजन के लिए सभी कांग्रेस विधायकों व अन्य जनप्रतिनिधियों तथा पार्टी पदाधिकारियों को आदिवासी समाज के साथ आमंत्रित किया गया है। कांग्रेस की रणनीति के तहत आदिवासी समाज के जनप्रतिनिधियों की भूमिका इस आयोजन में महत्वपूर्ण होगी। पार्टी का कहना है कि बिरसा मुंडा की पहली प्रतिमा जबलपुर में है लिहाजा पार्टी यहां आदिवासी सम्मेलन आयोजित कर रही है।
यानी बिरसा मुंडा की जयंती पर दोनों ही दल (कांग्रेस व भाजपा) आदिवासी समाज के लिए अलग-अलग दावे करेंगे। खुद को उनका असल हितैषी करार देंगे। भोपाल में पीएम मोदी आदिवासी समाज के लिए कई घोषणाए भी कर सकते हैं। वहीं कांग्रेस की रणनीति है कि उन्होंने अपने शासनकाल में आदिवासियों के लिए जो कुछ भी किया है उसे दोहराएगी, साथ ही भाजपा सरकारों की नीतियों की खामियों को उजागर करने की कोशिश करेगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां

बड़ी खबरें

Corona Vaccine: वैक्सीन के लिए नई गाइडलाइंस, कोरोना से ठीक होने के कितने महीने बाद लगेगा टीकामुंबई: 20 मंजिला इमारत में भीषण आग में दो की मौत, राहत बचाव कार्य जारीयूपी की हॉट विधानसभा सीट : गुरुओं की विरासत संभालने उतरे योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादवदेश विरोधी कंटेंट के खिलाफ सरकार की बड़ी कार्रवाई, 35 यूट्यूब चैनल किए ब्लॉकGood News: प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस बने माता-पिता, एक्ट्रेस ने पोस्ट शेयर कर फैंस को बताया- बेबी आया है...ओमिक्रॉन का कहर-20 दिन में 117 फ्लाइट्स कैंसिलसरकारी स्कूल में कोरोना विस्फोट, पांच छात्र समेत टीचर की रिपोर्ट पॉजिटिव, SDM ने एक सप्ताह के लिए स्कूल किया बंदलखीमपुर खीरी कांड में दूसरी चार्जशीट दाखिल, चार किसानों को बनाया आरोपी, तीन को राहत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.