मप्र आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय के निर्देश, प्रैक्टिकल परीक्षा के तुरंत बाद विवि को ऑनलाइन भेजने होंगे नम्बर

मप्र आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय के निर्देश, प्रैक्टिकल परीक्षा के तुरंत बाद विवि को ऑनलाइन भेजने होंगे नम्बर
mp ayurvigyan university

Abhishek Dixit | Updated: 13 Jul 2019, 11:45:30 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

मप्र आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय के निर्देश, प्रैक्टिकल परीक्षा के तुरंत बाद विवि को ऑनलाइन भेजने होंगे नम्बर

जबलपुर. मप्र आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय से सम्बद्ध कॉलेजों में छात्र-छात्राओं के प्रैक्टिकल परीक्षा के अंकों में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी नहीं हो सकेगी। कॉलेजों को प्रैक्टिकल और इंटरनल परीक्षाओं में विद्यार्थियों को मिले अंक की जानकारी परीक्षा के बाद उसी दिन ऑनलाइन भेजना होगा। विवि की ओर से दी गई लॉग इन आइडी के जरिए पोर्टल पर जाकर प्रत्येक विद्यार्थी के प्राप्तांक का ब्योरा दर्ज करना होगा। माना जा रहा है कि ऐसा करने से प्रैक्टिकल और इंटरनल के अंक नहीं मिलने के कारण नतीजों की घोषणा में विलम्ब का रोड़ा दूर हो जाएगा।

Read Also : income tax return : अगर अब तक आपने नहीं भरा है आयकर रिटर्न तो जरूर पढ़े ये खबर...

हस्ताक्षर के साथ हो एक प्रति
विवि ने प्रैक्टिकल और इंटरनल परीक्षा के अंकों को लेकर चूक से बचने के लिए ऑनलाइन एंट्री के साथ ही कॉलेजों से सम्बंधित प्राप्तांकों का ब्योरा हार्ड कॉपी में भी मांगा है। कॉलेजों को छात्र-छात्राओं के प्राप्तांक की ऑनलाइन एंट्री कर पोर्टल से उसकी हार्ड कॉपी लेना है। उस पर प्राचार्य की सील और हस्ताक्षर युक्त एक प्रति विवि को भेजना होगा। परीक्षा नियंत्रक डॉ. तृप्ति गुप्ता के अनुसार इवैल्युएशन और रिजल्ट प्रोग्रामिंग की प्रक्रिया डिजीटल की जा रही है। कॉलेजों को प्रैक्टिकल परीक्षा के नम्बर पोर्टल पर ऑनलाइन दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं।

Read Also : Mp High Court का अहम फैसला, नीट परीक्षा में सही उत्तर टिक करने वाले को मिलेंगे अंक

तो रोक दिया जाएगा रिजल्ट
विवि ने सम्बद्ध कॉलेजों को जारी निर्देश में चेतावनी दी है कि पोर्टल पर दर्ज किए गए छात्र-छात्राओं के अंकों की हार्ड कॉपी ही स्वीकार होगी। ऑनलाइन भेजे गए अंक और हार्ड कॉपी में दर्ज प्राप्तांक में अंतर होने पर यह अमान्य होगा। प्रैक्टिकल और इंटरनल नम्बर की ऑनलाइन एंट्री निर्धारित लॉग इन आइडी से नहीं होने पर सम्बंधित कॉलेज के नतीजे विथेल्ड हो जाएंगे। लापरवाही बरतने वाले कॉलेजों के विरुद्ध कार्रवाई होगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned