प्रदोष व्रत से पूरी होगी मनोकामना, सोना चांदी की चमक पड़ेगी फीकी- पंचांग

प्रदोष व्रत से पूरी होगी मनोकामना, सोना चांदी की चमक पड़ेगी फीकी- पंचांग
pradosh

Lalit Kumar Kosta | Updated: 14 Jul 2019, 11:38:42 AM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

प्रदोष व्रत से पूरी होगी मनोकामना, सोना चांदी की चमक पड़ेगी फीकी- पंचांग

जबलपुर। शुभ विक्रम संवत् : 2076, संवत्सर का नाम : परिधावी्, शाके संवत् : 1941, हिजरी संवत् : 1440, मु.मास: जिल्काद तारीख 10, अयन : उत्तरायण, ऋतु : ग्रीष्म, ,मास : आषाढ, पक्ष : शुक्ल, तिथि - जया तिथि त्रयोदशी शाम रात्रि 12.50 तक उपरांत रिक्ता तिथि चतुर्दशी रहेगी। जया तिथि में सभी प्रकार के मांगलिक कार्य संपन्न किये जा सकते हैं। इस तिथि की स्वामी भगवती गौरी हैं। आज के दिन धन के स्वामी कुबेर का पूूजन करना तथा खीर का भोग भगवती को समर्पित करना परम कल्याणकारी तथा भाग्योन्नति के लिए शुभ माना जाता है।
योग- प्रात: 6.11 तक उपरांत ब्रम्ह योग रहेगा। शुभ कार्य हेतु शुक्ल योग अत्यंत उपयुक्त रहेगा।
विशिष्ट योग- तिथि गणना तथा योग गणना के आधार पर आज का दिन सभी प्रकार के कार्यों हेतु शुभ तथा सुखद रहेगा।
करण- सूर्योदय काल से कौलव उपरंात तैतिल तदंतर गरकरण का प्रवेश होगा। करण गणना सामान्य है।

 

pradosh vrat, <a href=pradosh h katha, pradosh puja vidhi, pradosh shubh muhurat" src="https://new-img.patrika.com/upload/2019/02/05/panchang_today_4834650-m.jpg">

नक्षत्र- तीक्ष्णसंज्ञक तिर्यडमुख नक्षत्र ज्येष्ठा शाम 6.33 तक उपरांत उग्रक्रूरसंज्ञक नक्षत्र मूल रहेगा। ज्येष्ठा नक्षत्र में कूटनीतिक वार्ता, राजनीतिक वार्ता, कर्ज निपटारा, अग्नि विषयक कार्य, कृषि औजार, कृषि वार्ता जैसे कार्य अत्यंत शुभ तथा मंगलकारी माने जाते हैं। वहीं मूल नक्षत्र में शुभ तथा मांगलिक कार्य अत्यंत उत्तम माने जाते हैं।
शुभ मुहूर्त - आज नामकरण, विद्यारंभ, अक्षरारंभ, वेदारंभ, क्रय-विक्रय विवाह, द्विरागमन, व्यापारंभ,वरवरण, कन्यावरण, आवेदन, पत्र लेखन, सेवारंभ जैसे कार्य शुभ रहेंगे।
श्रेष्ठ चौघडि़ए - आज प्रात: 9.00 से 12.00 लाभ अमृत दोपहर 1.30 से 3.00 शुभ एवं रात्रि 6.00 से 9.00 शुभ तथा अमृत की चौघडिय़ा शुभ तथा मंगलकारी मानी जाती है।
व्रतोत्सव- आज सर्वार्थ सिद्धि योग के साथ जया पार्वती व्रत तथा प्रदोष व्रत का व्रत व्रतोत्सव पर्व रहेगा।
चंद्रमा : शाम 6.33 तक वृश्चिक राशि में उपरांत गुरु प्रधान राशि धनु राशि में संचरण करेगा।


pradosh vrat, pradosh katha, pradosh puja vidhi, pradosh shubh muhurat

ग्रह राशि नक्षत्र परिवर्तन: सूर्य के मिथुन राशि में गुरू वृश्चिक राशि में तथा शनि धनु राशि के साथ सभी ग्रह यथा राशि पर स्थित हैं। सूर्य का पुनर्वसु नक्षत्र में संचरण रहेगा।
दिशाशूल: आज का दिशाशूल पश्चिम दिशा में रहता है। इस दिशा की व्यापारिक यात्रा को यथासम्भव टालना हितकर है। चंद्रमा का वास उत्तर दिशा में है। सन्मुख एवं दाहिना चंद्रमा शुभ माना जाता है।
राहुकाल: शाम 4.30.00 बजे से 6.00.00 बजे तक।
आज जन्म लेने वाले बच्चे - आज जन्मे बालकों का नामाक्षर नो, या, यू अक्षर से आरंभ कर सकते हैं। ज्येष्ठा नक्षत्र में जन्मे बालकों की राशि वृश्चिक होगी। राशि स्वामी मंगल तथा ताम्रपाद पाया में जन्म माना जाएगा। वृश्चिकराशि के जातक प्राय: विवेकवान, नैसर्गिक कार्य में रुचि रखने वाले, सुधारवादी, मिलनसार, दयालु, परोपकारी, कार्यकुशल, प्रभावशाली, प्रगतिशील, प्रवृत्ति वाले होते हैं। अभियांत्रिकी में सफल होते हैं।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned