जेईसी से विदाई पाकर भावुक हो उठे प्राचार्य

जिस कॉलेज में पढ़ाया वहीं मिली कमान, प्रो ठाकुर को दी भावभीनी विदाई, 300 अंतर्राष्ट्रीय रिसर्च जनरल का प्रकाशन, इंटरनेशनल कॉफ्रेंस कराने का पहला मौका मिला

By: Mayank Kumar Sahu

Updated: 01 Jul 2020, 04:19 PM IST

जबलपुर। जबलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज के प्राचार्य प्रो.एसएस ठाकुर को स्टॉफ द्वारा भावभीनी विदाई दी गई। प्राध्यापकों और कर्मचारियों द्वारा शाल, श्रीफल एवं सम्मानपत्र भेंट किया गया। विदाई के दौरान प्राचार्य प्रो.ठाकुर देख भावुक हो उठे। उन्होंने कहा कि 35 सालों की सेवा के दौरान इस कॉलेज ने उनको पहचान दी है। मध्यभारत के सबसे बड़े और सबसे पुराने इंजीनियङ्क्षरग कॉलेज में पढ़ाया उसी कॉलेज की बागडौर संभालने का मौका मिला। 300 अंतर्राष्ट्रीय रिसर्च जनरल का प्रकाशन करने के साथ ही 28 पीएचडी भी उनके अंडर में हुई। इंटरनेशनल कॉफ्रेंस, इन्क्यूबेशन और डिजाइन सेंटर, कर्मचारी आवासों का रिनोवेशन जैसे काम उन्हें सदैव स्मरणीय रहेंगे। सेवानिवृत्ति के बाद भी छात्रों से यथावत जुड़ा रहूंगा। इस दौरान प्रो.प्रशांत जैन, प्रो.आरके भाटिया, डॉ.गोपाल मीणा, डॉ.एके शुक्ला, डॉ.शैलजा, डॉ.ज्योति बाजपेयी, कर्मचारी संघ अध्यक्ष वीरेश शर्मा आदि उपस्थित थे।
वीयू में हुई चार की विदाई
वेटरनरी विश्वविद्यालय में मंगलवार को सेवानिवृत्त हुए अधिकारियों ने विवि प्रबंधन द्वारा भावभीनी विदाई दी गई। विवि से सेवानिवृत्त हुए डॉ. यशपाल साहनी संचालक अनुसंधान सेवायें, डॉ. पीसी शुक्ला संचालक क्लीनिक, डॉ. जेके भारद्वाज संचालक प्रक्षेत्र एवं डॉ. एसएनएस परमार तकनीकी अधिकारी को कुलपति प्रो.एसपी तिवारी ने शाल श्रीफल एवं सम्मान पत्र भेंट किया और उनके उत्कृष्ट सेवाओं की प्रशंसा की। कार्यक्रम का संचालन डॉ.आदित्य मिश्रा एवं आभार डॉ.अनिल गौर ने किया।
कृषि विवि में राजपूत सेवानिवृत्त
कृषि विवि में जैव प्रोद्योगिकी केंद्र के संचालक डा.एलपीएस राजपूत को सेवानिवृत्ति पर कुलपति डॉ.पीके बिसेन द्वारा शल श्रीफल एवं अभिनंदन पत्र देकर भावभीनी विदाई दी गई। इस दौरान अधिष्ठाता डॉ.धीरेंद्र खरे, डा.आरके नेमा, डॉ.ओम गुप्ता, डा.आरएम साहू आदि उपस्थित थे।

Mayank Kumar Sahu Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned