कड़ाके की सर्दी में टीचर्स ने बच्चों को खड़ा किया गेट के बाहर, इस वीडियो से फैली सनसनी

स्कूल में अमानवीय व्यवहार का मामला सामने आते ही मच गया हडक़म्प

By: Premshankar Tiwari

Published: 10 Jan 2019, 08:47 PM IST

जबलपुर। प्राइवेट स्कूलों की मनमानी रुकने का नाम नहीं ले रही है। सिविल लाइंस स्थित लेनार्ड स्कूल में एक छात्रा द्वारा प्रताडऩा से तंग आकर दूसरी मंजिल से कूंदने की घटना शांत भी नहीं हुई थी कि पाटन रोड स्थित विजन इंटरनेशनल स्कूल में बच्चों को प्रताडि़त करने का मामला सामने आया है। स्कूल प्रबंधन ने फीस जमा न करने को लेकर बच्चों को कड़ाके की सर्दी के बीच सुबह स्कूल गेट के बाहर खड़ा कर दिया। आरोप है कि जब अभिभावकों ने इसका विरोध दर्ज किया तो स्कूल प्रबंधन ने उनके साथ भी अभ्रदता की। इसे लेकर अभिभावकों में खासी नाराजगी है। पीडि़त अभिभावकों ने ऐसे स्कूलों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग स्कूल शिक्षा मंत्री, जिला कलेक्टर से की है।

अभिभावकों के साथ की झूमाझटकी
अभिभावक विनीत चौबे, अशोक, मनोज आदि ने बताया कि स्कूल में अधिकांश बच्चे गांव के आसपास से आते हैं। कुछ बच्चे किन्ही कारणों से स्कूल की फीस जमा नहीं कर पाए। इस बात को लेकर स्कूल प्रबंधन ने सभी बच्चों को बाहर कर फीस लेकर आने के बाद ही पढऩे की बात कही। बच्चे गिड़गिड़ाते रहे। कुछ बच्चों ने इसकी शिकायत अभिभावकों से की और अभिभावक स्कूल पहुंचे। प्रबंधन ने उनके साथ अभद्रता करते हुए मारपीट पर उतारू हो गए। बच्चों के साथ मारपीट की गई।

अपशब्दों का उपयोग
अभिभावकों ने बताया कि स्कूल के प्राचार्य के समक्ष जब विरोध दर्ज किया गया तो उल्टे अभिभावकों से अभद्र लहजे में कहा गया कि जब उनकी औकात नहीं है तो क्यों स्कूल में पढ़ा रहे हैं। बच्चों का नाम कटाकर दूसरे स्कूल में पढ़ाने की दलील भी दी गई। इससे अभिभावक बेहद आहत हैं। उनका कहना है कि बच्चों के साथ अमानवीय व्यवहार करने वाले स्कूल प्रबंधन पर कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।

प्राचार्य ने दिया ये तर्क
कुछ छात्रों ने फीस जमा नहीं की थी। इसके लिए नोटिस दिया गया था। अभिभावक फरवरी तक की मोहलत मांग रहे थे। स्कूल चलाने के लिए पैसों की आवश्यकता होती है। अभिभावकों के साथ कुछ बाहरी लोग भी पहुंचे जो कक्ष में घुस गए जिन्हे रोका गया न किसी के साथ मारपीट की गई न बाहर किया गया।
जमाल ख्तर, प्राचार्य विजन इंटरनेशनल स्कूल

Show More
Premshankar Tiwari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned