scriptQuadrangular Mahashiv Temple is the Siddha place of Bhootbhavan | चतुष्कोणीय महाशिव मंदिर है भूतभावन का सिद्धस्थल, गाज गिरी तो स्वर्णकलश बन गया तड़ितचालक | Patrika News

चतुष्कोणीय महाशिव मंदिर है भूतभावन का सिद्धस्थल, गाज गिरी तो स्वर्णकलश बन गया तड़ितचालक

संस्कारधानी जबलपुर के समीप टेमर ग्राम में एक शिवालय ऐसा भी है, जिसका शिखर स्वर्ण जड़‍ित है और इसे स्वयंरक्षित माना जाता है। कई बार चोरों ने इस पर हाथ साफ करने की कोशिश की, लेकिन वे नाकाम रहे। मन्दिर पर जोरदार गाज भी गिरी, लेकिन स्वर्णकलश ने उसे झेल लिया और कोई नुकसान नही हुआ। क्षेत्रीयजनों की मान्यता है कि यह भूतभावन भगवान शिव का सिद्धस्थल है।

जबलपुर

Updated: July 28, 2022 12:39:40 pm

टेमर के भूतभावन शिव मंदिर की अद्भुत है महिमा , सावन में लगती है भक्तों की भीड़


जबलपुर।

यूं तो संस्कारधानी में एक से बढ़कर एक सिद्ध, ऐतिहासिक और अद्भुत शिवालय हैं, जिनकी अपनी अलग अलग कथाएं-माहात्म्य हैं। लेकिन जबलपुर के समीप टेमर ग्राम में एक शिवालय ऐसा भी है, जिसका शिखर स्वर्ण जड़‍ित है और इसे स्वयंरक्षित माना जाता है। कई बार चोरों ने इस पर हाथ साफ करने की कोशिश की, लेकिन वे नाकाम रहे। मन्दिर पर जोरदार गाज भी गिरी, लेकिन स्वर्णकलश ने उसे झेल लिया और कोई नुकसान नही हुआ। क्षेत्रीयजनों की मान्यता है कि यह भूतभावन भगवान शिव का सिद्धस्थल है। सावन के महीने में भीटा ,टेमर,कजरवारा ,पिगरी ,धोबीघाट ,भोंगाद्वार, शिवपुरी, कटिया घाट ,सिद्ध नगर की जनता इस मंदिर में पूजन करने व जल चढ़ाने आती है।

shivalaya
shivalaya


140 साल पहले हुआ निर्माण-

मन्दिर परिसर में लगे शिलालेख के मुताबिक 1881 में ग्राम के प्रतिष्ठित गोस्वामी परिवार ने इस चतुष्कोणीय महाशिव मंदिर का निर्माण कराया था। 140 साल बाद भी इसका स्वरूप जस का तस है। समीप ही बनवाए गए दो कुएं मीठे जल के स्रोत हैं। वहीं आसपास रोपे गए पौधों ने आज विशाल दरख्तों की शक्ल ले ली है। बेल का छतनार वृक्ष सालभर शिवप्रिय बेलपत्र की सहज उपलब्धता सुनिश्चित कराता है। शिव मंदिर के कारण इस इलाके को शिव मंदिर मोहल्ले के नाम से पुकारा जाता है। पूर्वज हरवंश गिरि, गुमान गिरि, प्रेम गिरि, शंकर गिरि,परशराम गिरि, लाल गिरि के बाद वर्तमान में पांचवीं पी़ढ़ी के गोविन्द गिरि, जगन्नाथ गिरि और बलराम गिरि गोस्वामी नियमित पूजापाठ कर रहे हैं।


शिवजी के पीछे हैं नन्दी-

अमित पूरी गोस्वामी, अटल उपाध्याय ,नकुल गुप्ता ने बताया कि इस शिवालय में नंदी महाराज को शिवलिंग के सामने न बैठाकर पीछे बैठाया गया है। धार्मिक मान्यता के अनुसार सामने प्रतिष्ठित नंदी शिवपूजा के आधे पुण्य के भागी बन जाते हैं। चूंकि इस मंदिर में नंदी को पीछे कर दिया गया है। इसलिए यहां भक्तों की आस्था प्रबल हो जाती है कि पूजा करने वालों को समग्र पुण्य लाभ होता है। इसके अलावा जिलहरी को अन्य शिवालयों के विपरीत पूर्वामुखी रखा गया है। जिस पर प्रातः सूर्य की पहली किरण पड़ती है। जिससे मन्दिर में कल्याणकारी ऊर्जा भी संचित होती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

14 अगस्त स्मृति दिवस: वो तारीख जब छलनी हुआ भारत मां का सीना, देश के हुए थे दो टुकड़ेआरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का बड़ा बयान, बापू की छोटी सी भूल ने भारत के टुकड़े करा दिएHimachal Pradesh: जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवाने पर होगी 10 साल की जेल, लगेगा भारी जुर्मानाDGCA ने एयरपोर्ट पर पक्षियों के हमले को रोकने के लिए जारी किया दिशा-निर्देश'हर घर तिरंगा' अभियान में शामिल हुई PM नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन, बच्‍चों के संग फहराया राष्‍ट्रीय ध्‍वज7,500 स्टूडेंट्स ने मिलकर बनाया सबसे बड़ा ह्यूमन फ्लैग, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ नामबिहारः सत्ता गंवाते ही NDA के 3 सांसद पाला बदलने को तैयार, महागठबंधन में शामिल होने की चल रही चर्चा'फ्री रेवड़ी ' कल्चर व स्कूल के मुद्दे पर संबित्र पात्रा ने AAP को घेरा, कहा- 701 स्कूलों में प्रिंसिपल नहीं, 745 स्कूलों में नहीं पढ़ाया जाता विज्ञान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.