Railway Crime Branch की बड़ी कामयाबी, ई-टिकट बुकिंग में बड़े फर्जीवाड़े का किया खुलासा

- Railway Crime Branch ने दो लाख कीमत के डेढ सौ से ज्यादा ई-टिकट किए बरामद

By: Ajay Chaturvedi

Published: 20 Jun 2021, 03:09 PM IST

जबलपुर. Railway Crime Branch ने ई-टिकट के फर्जीवाड़े का बड़ा खुलासा किया है। क्राइम ब्राच की इस कार्रवाई में दो लाख रुपये की कीमत के डेढ सौ से ज्यादा ई-टिकट बरामद किए गए हैं।

रेलवे क्राइम ब्रांच की शाखा प्रभारी अनुराधा मिश्रा बताती हैं कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि सिविल लाइंस स्थित सम्राट फोटोकॉपी का संचालक पर्सनल आईडी से रेलवे का ई-टिकट बुक कर बेचता है। हालांकि वह अधिकृत एजेंट है और लाइसेंस भी ले रखा है। पर अधिकृत ई-मेल आईडी का प्रयोग वह कम करता है। अधिक मुनाफा कमाने के चक्कर में उसने दो पर्सनल आईडी बना रखी थी।

ये भी पढें- MP Medical University Scam में अब नया खेल, जानें क्या है नया मामला...

उन्होंने बताया कि अनलॉक में यात्री ट्रेनों में भीड़ बढ़ रही है। फिलहाल आरक्षित टिकट पर ही यात्रा करने की अनुमति है। ऐसे में ई-टिकट की बिक्री में काफी वृद्धि हुई है। लिहाजा एजेंट इसी का नाजायज फायदा उठा रहा था।

क्राइम ब्रांच शाखा प्रभारी मिश्रा के मुताबिक रेलवे की ओर से दो पर्सनल आईडी से अधिक संख्या में ई-टिकट बुक होने की जानकारी मिली। इस पर टीम ने सिविल लाइंस स्थित सम्राट फोटोकॉपी दुकान पर छापा मारा तो वहां कई ट्रेनों के दो लाख 22 हजार रुपए कीमत के 155 ई-टिकट मिले। ऐसे में टीम ने संचालक सम्राट हालदार को गिरफ्तार कर लिया। उसके खिलाफ रेलवे एक्ट के तहत कार्रवाई की जा रही है। इस कार्रवाई से दूसरे एजेंटों में हड़कंप मचा हुआ है।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned