scriptRailways make speed record, increased facilities for passengers | रेलवे ने बनाया रफ्तार का रिकॉर्ड, यात्रियों के लिए ये सुविधाएं बढ़ाईं | Patrika News

रेलवे ने बनाया रफ्तार का रिकॉर्ड, यात्रियों के लिए ये सुविधाएं बढ़ाईं

रेलवे ने बनाया रफ्तार का रिकॉर्ड, यात्रियों के लिए ये सुविधाएं बढ़ाईं

 

जबलपुर

Published: January 11, 2022 11:06:32 am

जबलपुर। पश्चिम मध्य रेल ्रके मजबूत रेल पथ पर मालगाडिय़ां फर्राटा भर रही हैं। जबलपुर जोने ने इनकी औसत गति में इजाफा कर भारतीय रेलवे में अपनी बढ़त बनाए रखी है। पहले के मुकाबले शीघ्र माल परिवहन के साथ रेल जोन में यात्री ट्रेनों में नए एलएचबी कोच वाले रैक लगाने से सफर आरामदायक हुआ है। एलएचबी रैक में दिव्यांगों के चढऩे-उतरने की आसान व्यवस्था सहित अन्य सुविधाएं बढ़ गई हैं।

IRCTC
Railways make speed record
पमरे : रेल पथ की मजबूती, नई रेल लाइन व आधुनिक कोच से व्यवस्थाएं बेहतर

फर्राटा भर रहीं मालगाड़ी, दिव्यांगों के लिए एलएचबी कोच में सुविधाएं बढ़ीं
57.7 किमी प्रति घंटा की गति से दौड़ रहीं मालगाड़ी
44.40 किमी प्रति घंटा गति है मालगाड़ी की
Railway

मालगाडिय़ों को तेजी से दौड़ाने में भारतीय रेलवे में पश्चिम मध्य रेल (पमरे) अव्वल बना हुआ है। लगातार आगे चल रहे पमरे ने 10 महीने में मालगाडिय़ों की औसत गति को और बेहतर किया है। वर्ष 2021-22 में दिसंबर माह तक भारतीय रेल में मालगाडिय़ों की औसत गति 44.40 किलोमीटर प्रति घंटा थी। जबकि, इस अवधि में पश्चिम मध्य रेल में मालगाडिय़ां 57.70 किलोमीटर प्रति घंटे की औसत गति से दौड़ी हैं। रफ्तार का रिकॉर्ड बनाने के साथ ही यात्री ट्रेनों में नए लगाए जा रहे एलएचबी रैक के जरिए दिव्यांग यात्रियों के लिए भी सुविधाएं बेहतर बनाई जा रही हैं। रेल जोन की पांच यात्री ट्रेनों के एलएचबी रैक में विशेष दिव्यांग कोच (एसएलआरडी) जोड़े गए हैं। इसमें दिव्यांग यात्रियों के चढऩे-उतरने की सुगम-सुविधा है। व्हीलचेयर वाले यात्रियों की जरूरत को ध्यान में रखते हुए इस कोच में कई नई सुविधाएं यात्रियों को दी गई हैं।

Railway

चौड़ा दरवाजा और बर्थ
एलएचबी रैक के एसएलआरडी में दिव्यांग और व्हीलचेयर वाले यात्रियों की आवाजाही आसान बनाने के लिए कोच में बड़ा प्रवेश द्वार, चौड़ी बर्थ और अपेक्षाकृत ज्यादा बड़े आकार का शौचालय बनाया गया है। कम ऊंचाई पर वॉश बेसिन और आईना दिया गया है। कोच में व्हीलचेयर लॉकिंग सिस्टम भी है। इन सुविधाओं से लैस एसएलआरडी एमपी संपर्क क्रांति, महाकौशल, जबलपुर-अमरावती, जबलपुर-हजरत निजामुद्दीन (गोंडवाना), जबलपुर-रानी कमलापति जनशताब्दी और रानी कमलापति निजामुद्दीन एक्सप्रेस में हैं।

औसत गति में 13 प्रतिशत की वृद्धि
पमरे में वर्ष 2020-21 में माह दिसंबर तक मालगाडिय़ों की औसत गति 51.18 किलोमीटर प्रति घंटा थी। यह वर्ष 2021-22 में दिसंबर माह तक बढकऱ 57.70 किलोमीटर प्रति घंटा हो गई है। औसत गति में 13 प्रतिशत की रिकॉर्ड वृद्धि हुई है। इससे 10 महीने से पमरे के नाम पर मालगाडिय़ों की ज्यादा रफ्तार का रिकॉर्ड बना हुआ है।

आधारभूत संरचना का विकास हुआ है। रेल लाइन के दोहरीकरण और तिहरीकरण की योजनाओं पर तेजी से काम हो रहा है। तीनों रेल मंडल में मालगाडिय़ों की अधिकतम गति सीमा बढ़ाई गई है। रेल जोन में शत-प्रतिशत विद्युतीकृत रेलमार्ग है। इससे मालगाड़ी की औसत गति बढ़ी है। यात्री सुविधाओं को भी लगातार बेहतर बनाया जा रहा है। दिव्यांग यात्रियों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध हों सुनिश्चित किया जा रहा है।
- राहुल जयपुरियार, मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी, पमरे

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

देश में घट रहे कोरोना के मामले, एक दिन में सामने आए 2.38 लाख केसPM मोदी की मौजूदगी में BJP केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक आज, फाइनल किए जाएंगे UP, उत्तराखंड, गोवा और पंजाब के उम्मीदवारों के नामक्‍या फ‍िर महंगा होगा पेट्रोल और डीजल? कच्चे तेल के दाम 7 साल में सबसे ऊपरतो क्या अब रोबोट भी बनाएंगे मुकेश अंबानी? इस रोबोटिक्स कंपनी में खरीदी 54 फीसदी की हिस्सेदारीPunjab: ED की बड़ी कार्रवाई, सीएम चन्नी के भतीजे के यहां से 6 करोड़ की नगदी बरामदराजस्थान में 17 दिन में 46 लोगों की टूट गई सांसेंछत्तीसगढ़ के इस जिले में कलेक्टर हुए कोरोना संक्रमित, पॉजिटिविटी रेट बढ़ा तो बंद किए स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्र24 घंटे में तीन की मौत, फिर हॉटस्पॉट बना एमपी का ये शहर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.