यहां तेजी से बढ़ रहे हैं जमीन के दाम, वजह जानकर रह जाएंगे हैरान

नए प्रोजेक्ट्स ने बदल दी गई गांव की तस्वीर

By: Premshankar Tiwari

Published: 12 Mar 2018, 09:12 AM IST

जबलपुर। खेती की उपजाऊ जमीन के पास से चौड़ी सड़क बनी, तो कीमत बढ़ गई। जिन गांवों में बिल्डरों ने थोक में जमीनें खरीदे है वहां भी नए रेट आसमान छूने वाले हैं। कलेक्टर गाइडलाइन में इन जमीन की कीमत में इस बार एक से लेकर दो लाख रुपए प्रति हेक्टेयर तक वृद्धि प्रस्तावित है। शहरी सीमा से लगी होने के कारण भी इन जमीन की कीमत में वृद्धि सम्भावित है। इन क्षेत्रों में सड़कों का नेटवर्क भी हाल में बेहतर हुआ है। नए बायपास और प्रोजेक्ट्स ने इनकी राह आसान बनाई है। ऐसे में शहर में प्रॉपर्टी महंगी होना तय माना जा रहा है।

खेती की जमीन होगी सबसे महंगी
शहर की के कुछ क्षेत्रों में जमीनों पर रियल एस्टेट कारोबारियों की भी नजर है। सूत्रों के अनुसार रियल एस्टेट कारोबारी भविष्य की योजनाओं के मद्देनजर बड़े पैमाने पर तिलवाराघाट के पार, चरगवां मार्ग, मंगेली मार्ग के किनारे की जमीन खरीद रहे हैं। इनकी रजिस्ट्री भी मौजूदा दर से ज्यादा कीमत पर कराई जा रही थी। इसे ध्यान में रखते हुए एेसी जमीन की कीमतों में वृद्धि प्रस्तावित की गई है। प्रस्तावित कलेक्टर गाइडलाइन के लागू होने पर घुंसौर और जोतपुर में खेती की सिंचित जमीनें सबसे महंगी हो जाएंगी।

कीमतों में प्रस्तावित वृद्धि का कारण
घुंसौर व जोतपुर में जबलपुर-नागपुर सड़क चौड़ीकरण से बढ़ी कीमत
सिलुआ, जमुनिया, सिवनी टोला में जबलपुर-चरगवां सड़क चौड़ीकरण से कीमत बढ़ी
मंगेली में तिलहरी-मंगेली नई सड़क बनने के कारण कीमत में हुआ इजाफा

प्रस्तावित वृद्धि के बावजूद इन जमीन के दाम रहेंगे कम (प्रति हेक्टेयर में)
स्थान - मौजूदा - प्रस्तावित - सम्भावित बढ़ोत्तरी(प्रतिशत में)
मंगेली - 12 लाख - 13 लाख - 08
चरगवां - 10 लाख - 11 लाख - 10
मुकुनवारा - 09 लाख - 10 लाख - 10
तिनसी - 7.50 लाख - 08 लाख - 07
हुलकी - 5.50 लाख - 06 लाख - 09
कालादेही - 06 लाख - 6.50 लाख - 08

कृषि की ये जमीन होंगी सबसे महंगी (प्रति हेक्टेयर में)
स्थान - मौजूदा - प्रस्तावित प्रतिशत में दर - सम्भावित बढ़ोत्तरी
घुंसौर - 35 लाख - 36 लाख - 03
सिलुआ - 30 लाख - 32 लाख - 02
जोतपुर - 30 लाख - 32 लाख - 03
सिवनी टोला - 20 लाख - 21 लाख - 05
जमुनिया - 25 लाख - 26 लाख - 04

Show More
Premshankar Tiwari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned