scriptrecords of two hundred year old ancestors save of narmada pandas | नर्मदा के पंडों के पास है दो सौ साल के पितरों की कुंडली, बता देते हैं पूरी वंशबेल | Patrika News

नर्मदा के पंडों के पास है दो सौ साल के पितरों की कुंडली, बता देते हैं पूरी वंशबेल

चार सदी पुराना है पंडों का इतिहास

जबलपुर

Updated: September 23, 2022 11:21:59 am

लाली कोष्टा@जबलपुर। 16 दिवसीय पितृपक्ष अब अंतिम चरणों में है। दो दिन बाद पितरों की विदाई हो जाएगी। पूर्ण आस्था और विश्वास के साथ नम आंखों से अगले वर्ष फिर आने का न्यौता देकर पितरों को नर्मदा में प्रवाहित कर अपने धाम जाने के लिए विदा कर दिया जाएगा। ये सिलसिला सदियों से ऐसे ही चल रहा है। लेकिन यहां गौर करने वाली बात ये है कि पितृ तो हर साल ऐसे ही आते जाते रहते हैं, किंतु उनके जाने की ज्ञात अज्ञात तिथियां, तारीख और वार इसी नर्मदा तट पर पूरे साल सुरक्षित रखे रहते हैं। जी हां. हम बात कर रहे हैं तीर्थ पुरोहितों, पंडों के बही यानि रिकॉर्ड बुक की। जो करीब दो सौ सालों से लाखों लोगों के पितरों का हिसाब रखे बैठे हैं। नर्मदा तट पर होने वाले अंतिम संस्कार से लेकर खारी विसर्जन व पिंडदान तक की तिथियां तीर्थ पुरोहितों द्वारा पीढिय़ों से कलमबद्ध की जा रही हैं। ये सिलसिला आज भी अनवरत तौर पर जारी है।

panda.jpg
narmada pandas
Pitru Paksha 2022

करीब चार सदी पुरानाहै पंडों का इतिहास

नर्मदा तीर्थ पुरोहित संघ अध्यक्ष एवं नर्मदा महाआरती संस्थापक ओंकार दुबे ने बताया कि नर्मदा तट पर पूजन, विधान, कर्मकांड कराने वाले पंडों का करीब चार सदी पुराना इतिहास है। देश प्रदेश के विभिन्न गांवों व शहरों से आए तीर्थ पुरोहितों ने जंगलों के बीच बहती नर्मदा के तट पर अपना जीवन समर्पित कर दिया। लोगों को न केवल नर्मदा के महत्व बल्कि उसकी आस्था और भक्ति से लोगों को अवगत कराने का काम भी किया। हर पुरोहित का अपना एक विशेष निशान है जो सदियों से उनकी पहचान है।

tarpan.jpg

खारीघाट में दो सौ साल से पुराना रिकॉर्ड आज भी है मौजूद

ग्वारीघाट के खारीघाट में पूरे महाकोशल, बुंदेलखंड से लोग अपने मृत परिजनों की अस्थियां विसर्जन करने करने पहुंचते हैं। तीर्थ पुरोहित सुनील दुबे ने बताया उनके परिवार की आठ- नौ पीढिय़ां खारीघाट में खारी विसर्जन, तर्पण का काम करते हुए चली आ रही हैं। करीब दो साल पहले हमारे पूर्वजों ने यहां आने वाले लोगों का रिकॉर्ड रखना शुरू किया था। आज हमारे पास दो सदी से ज्यादा का रिकॉर्ड रखा हुआ है। जिसमें लाखों की संख्या में नाम पते लिखे रखे हैं। पितरों में दूर दराज से लोग आकर अपने पूर्वजों, कुल, कुटुम्बी और परिजनों की जानकारी ले रहे हैं, ताकि उनका पिंडदान किया जा सके। यहां उनकी कई पीढिय़ों का रिकॉर्ड हैं।

Pitru Paksha 2022

पिंडदान करने वालों का 190 साल का रिकॉर्ड

तीर्थ पुरोहित अभिषेक मिश्रा ने बताया कि उनके नाना, परनाना करीब चार पीढिय़ों से तीर्थ पुरोहित का काम कर रहे हैं। हमारे पास करीब 180 से 190 साल पुराना रिकॉर्ड रखा है। पितृ पक्ष में बहुत से लोग अपने ज्ञात अज्ञात पितरों की जानकारी लेने पहुंच रहे हैं। जिनके पूर्वजों की तिथियां या तारीख ज्ञात नहीं हैं वे भी रिकॉर्ड निकलवाकर उनका तर्पण, श्राद्ध आदि निमित्त कर मोक्ष की कामना कर रहे हैं। वैसे तो पूरे साल लोग अपने पितरों की जानकारी लेने आते रहते हैं, लेकिन पितृ पक्ष के दौरान ऐसे लोगों की संख्या ज्यादा होती है।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

Nitin Gadkari का बड़ा ऐलान, अगले साल से सभी गाड़ियों में 6 एयरबैग लगाना हुआ अनिवार्यPFI पर ऐक्शन से पाकिस्तान में खलबली, संयुक्त राष्ट्र के सामने लगाई गुहारअशोक गहलोत का ऐलान, नहीं लड़ेंगे कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव, बोले- दो दिन पहले हुई घटना से बहुत आहतटी20 वर्ल्ड कप से पहले भारत को बड़ा झटका, चोट के चलते जसप्रीत बुमराह टूर्नामेंट से बाहर हुएमहिलाओं के हक में सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला- विवाहित की तरह अविवाहित को भी गर्भपात का अधिकारसोशल मीडिया पर भी लगाम, प्रतिबंध के बाद अब PFI का ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट भी हुआ बंदJammu-Kashmir News: उधमपुर भेजी गई NIA की टीम, 8 घंटे के अंदर हुए 2 सीरियल ब्लास्ट मामले में कर रही जांचअंकिता भंडारी मर्डर केस में आरएसएस नेता पर दर्ज हुआ मुकदमा, जानिए क्या है पूरा मामला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.