#Ammunition: अर्धसैनिक बल और राज्यों की पुलिस इन्हें बताएगी अपनी जरूरतें

बैठक 18 नवम्बर को : देशभर की आयुध निर्माणियों के आएंगे प्रतिनिधि

 

जबलपुर। अर्धसैनिक बल और राज्यों की पुलिस अपनी एमुनेशन संबंधी जरूरतों से देश की प्रमुख आयुध निर्माणियों को अवगत कराएंगे। 18 नवम्बर को वीकल फैक्ट्री जबलपुर (वीएफजे) में आयुध निर्माणी बोर्ड बैठक कर रहा है। इसमें रक्षा उत्पादन विभाग और बोर्ड के अधिकारियों के साथ एमुनेशन बनाने वाली आयुध निर्माणियों के अधिकारी शामिल होंगे।
हर साल होती है बैठक
आयुध निर्माणियां न केवल सेना बल्कि अद्र्धसैनिक बल और राज्यों की पुलिस को एमुनेशन, वीकल और दूसरी सामग्री मुहैया कराती हैं। हर साल इसका टारगेट फिक्स होता है कि कौन सी आयुध निर्माणी किस सरकारी संगठन को एमुनेशन उपलब्ध कराएगी। इसके लिए हर साल एक बैठक होती है। इसमें ग्राहक राज्यों के पुलिस अधिकारी एवं अद्र्धसैनिक बलों के प्रमुख शामिल होते हैं। इस बार यह बैठक वीएफजे में होगी।

आधुनिकीकरण पर ध्यान
बैठक में रक्षा मंत्रालय में प्रोजेक्ट मॉर्डनाइजेशन से जुड़े एडीशनल सेक्रेटरी (एमएचए), आयुध निर्माणी बोर्ड के सदस्य के अलावा विभिन्न निर्माणियों के महाप्रबंधक एवं अर्धसैनिक बल तथा पुलिस के अधिकारी शामिल हो रहे हैं। इस बैठक में मॉर्डनाइजेशन पर ज्यादा चर्चा होगी। सुरक्षा बल अब पहले से ज्यादा अपग्रेड एमुनेशन एवं वेपंस चाहत हैं। इस बैठक में वह अपनी जरुरत से निर्माणियों को अवगत कराएगे। इसी आधार पर अगले साल के लिए उनका लक्ष्य तय होगा।

वीएफजे के वाहनों की मांग
बैठक में वीकल फैक्ट्री में बनने वाले सुरंगरोधी वाहनों (एमपीवी) और बुलेट पू्रफ वाहन का लक्ष्य भी तय किया जाएगा। इन दोनों वाहनों को न केवल अद्र्धसैनिक बल बल्कि राज्यों की पुलिस भी लेती है। इसी प्रकार खमरिया में बने कारतूस और गन कैरिज फैक्ट्री (जीसीएफ) की पंप एक्शन गन पर भी विचार-विमर्श किया जाएगा।

आयुध निर्माणी बोर्ड 18 नवम्बर को वीएफजे में टारगेट फिक्सेशन बैठक कर रहा है। इसमें एमएचए के लिए आयुध निर्माणियों से सप्लाई होने वाली रक्षा सामग्री के लक्ष्य समेत अन्य विषयों पर चर्चा होगी।
एके राय, जनसम्पर्क अधिकारी वीएफजे

reetesh pyasi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned