Retired IG और एडीएम मां की बेटी पंखे से झूलकर आत्महत्या की

-जबलपुर एमपीईबी में एचआर विभाग में कार्यरत 27 वर्षीय युवती ने दी जान

By: santosh singh

Updated: 06 Apr 2020, 12:53 AM IST

जबलपुर। गोरखपुर थानांतर्गत रामपुर एमपीईबी कॉलोनी में 27 वर्षीय युवती ने पंखे से लटक कर आत्महत्या कर ली। युवती घर में अकेली थी और दो दिन से उसके घर का दरवाजा नहीं खुला तो पड़ोसियों की सूचना पर सुरक्षा कर्मियों ने अधिकारियों के साथ पुलिस को सूचना दी। पुलिस को युवती के पास से सुसाइड नोट भी मिला है। पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर सुसाइड नोट को जांच में लिया है।
पुलिस के अनुसार एमपीईबी में एचआर विभाग में कार्यरत दीपाली छारी (27) रामपुर एपीईबी कॉलोनी में अकेली रहती थीं। पिता रामचरण छारी आईजी से रिटायर्ड होकर ग्वालियर में रह रहे हैं। मां कुसुम छारी भोपाल में एडीएम हैं। पड़ोसियों के मुताबिक दीपाली ने शुक्रवार से दरवाजा नहीं खोला था। शनिवार को पड़ोसियों ने सुरक्षा कर्मियों को खबर दी। सुरक्षा कर्मी दीपाली को आवाज लगाने पहुंचे लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। इसके बार सुरक्षा कर्मियों ने अधिकारियों सहित पुलिस को खबर दी। देर रात पहुंची रामपुर पुलिस ने दरवाजा तोडकऱ अंदर पहुंची, तो देखा कि दीपाली पंखे में रस्सी का फंदा लगाकर लटकी थी।
सुसाइड नोट में जिंदगी से हताश होना लिखा
कमरे से पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला। जिसमें दीपाली ने जिंदगी से हताश होने की बातें लिखी हैं। उसने मां से इस तरह आत्महत्या के लिए भी माफी मांगी है। पुलिस हैंडराइटिंग एक्सपर्ट से सुसाइड नोट की जांच कराने के लिए भेजेगी। बेटी की आत्महत्या की खबर पाकर मां कुसुम छारी सुबह भोपाल से जबलपुर पहुंची और पीएम के बाद बेटी का शव लेकर रवाना हो गईं।
वर्जन-
एमपीईबी के एचआर विभाग में कार्यरत दीपाली ने सुसाइड नोट में जिंदगी से हताश होना लिखा है। एडीएम मां कुसुम छारी को पीएम के बाद शव सुपुर्दगी में सौंपा गया।
उमेश तिवारी, टीआई गोरखपुर

Show More
santosh singh Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned