रिटायर्ड अधिकारी की संपत्ति देख EOW के अधिकारियों का घूम गया माथा, जीता था रॉयल जिंदगी

रिटायर्ड अधिकारी की संपत्ति देख EOW के अधिकारियों का घूम गया माथा, जीता था रॉयल जिंदगी

Muneshwar Kumar | Publish: Jun, 26 2019 02:41:30 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

पीएचई के रिटायर्ड एसडीओ के पास है चार सौ करोड़ रुपये की संपत्ति, घर में शानो शौकत देख हिल गए ईओडब्ल्यू के अधिकारी

जबलपुर . मध्यप्रदेश के जबलपुर ( Jabalpur ) में ईओडब्ल्यू की टीम ने जब पीएचई के रिटायर्ड अधिकारी ( Retired PHE officer ) के घर कार्रवाई की तो संपत्ति ( billionaire ) देख माथा घूम गया। 36 साल की नौकरी में पीएचई के पूर्व एसडीओ सुरेश उपाध्याय ( suresh updhyay ) ने अकूत संपत्ति ( property ) बनाई है। उसके घर मिले कागजातों के देख छापेमारी के लिए आए अधिकारी हैरान थे।

 

दरअसल, मंगलवार को सुबह 5 बजे पीएचई के रिटायर्ड एसडीओ सुरेश उपाध्याय के घर, दफ्तर सहित कई ठिकानों पर ईओडब्ल्यू के अधिकारियों ने छापेमारी की। रिटायर्ड एसडीओ के घर छापेमारी में ईओडब्ल्यू के अधिकारियों को 400 करोड़ की बेनामी संपत्ति का पता चला है। यह संपत्ति इसने 36 साल की नौकरी के दौरान बनाई है।

इसे भी पढ़ें: Cryptocurrency के नाम पर जबलपुर में 100 करोड़ की ठगी, STF का खुलासा

Retired PHE officer

 

महल से कम नहीं हैं मकान
रिटायर्ड एसडीओ सुरेश उपाध्याय के जबलपुर शहर में जो मकान हैं, वो किसी महल से कम नहीं हैं। अनंततारा और कजरवारा में उसके दोनों मकान किसी महल से कम नहीं हैं। इन मकानों की कीमत ही तीन करोड़ से अधिक की बताई जा रही है। दोनों मकानों में कमरों से लेकर बाथरूम तक में स्वचालित उपकरण लगे हुए हैं। सुरेश उपाध्याय की इस बेनामी संपत्ति की पहली शिकायत 2010 में हुई थी।

Retired PHE officer

 

शिकायत के बाद भी नहीं हुई जांच
यही नहीं साल 2014 और 2015 में भी सुरेश उपाध्याय के खिलाफ बेनामी संपत्ति को लेकर दो शिकायतें मिलीं, लेकिन जांच के नाम पर अब तक इसके लटकाए रखा गया। जानकारी के अऩुसार 65 वर्षीय सुरेश उपाध्याय ने सदर स्थित प्रेम बुक डिपो के ऊपर अपना कार्यालय बना रखा है। इस कार्यालय से विभिन्न बैंकों के खाते संबंधी जानकारी प्लॉट और जमीन संबंधी रजिस्ट्री के दस्तावेज मिले हैं। इसके घर में इटॉलियन टाइल्स लगे हैं।

इसे भी पढ़ें: कुबेर के खजाने को भी मात दे गया ये अधिकारी, 36 साल में जोड़ी कई अरब की संपत्ति

Retired PHE officer

 

जीता था रॉयल लाइफ
रिटायर्ड एसडीओ सुरेश उपाध्याय और उसका परिवार एकदम लग्जरी लाइफ जीता था। इसके घर में सभी लग्जरी आइटम मौजूद हैं। इओडब्ल्यू ने सुरेश उपाध्याय और उनके परिवार के सदस्यों के नाम पर संचालित बैंक खातों को सीज करने के लिए शाखा प्रबंधकों को पत्र भेजा है। साथ ही खातों में जमा राशि की जानकारी मांगी गई हैं।

Retired PHE officer

 

सुबह 5 बजे शुरू हुई कार्रवाई
ईओडब्ल्यू डीएसपी राज्यवर्धन माहेश्वरी ने बताया कि सुबह पांच बजे 65 लोगों की टीम ने एक साथ उपाध्याय के बिलहरी रोड स्थित अनंततारा के बंगले, सदर स्थित कार्यालय और भीटा कजरवारा में दो-दो अलग-अलग घरों पर छापा मारा। चारों स्थानों पर देवरीकलां, कजरवारा, उमरिया, तिलहरी और बिलहरी में सैकड़ों एकड़ जमीन के कागजात मिले हैं।

Retired PHE officer

 

36 वर्ष तक की नौकरी
रिटायर्ड एसडीओ ने पीएचई विभाग में 36 वर्ष तक नौकरी की है। उसने अपनी काली कमाई का सबसे ज्यादा निवेश प्रॉपर्टी में किया है। जिसमें फ्लैट्स, जमीन, कार और अन्य लग्जरियस सुविधाएं भी शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें: 400 करोड़ का आसामी निकला पीएचई का रिटायर अधिकारी, बेनामी संपत्ति का खुलासा

Retired PHE officer

 

100 एकड़ जमीन के सौदे से आया चर्चा में
उपाध्याय परिवार ने हाल ही में कजरवारा में सौ एकड़ जमीन का सौदा किया था। इसी सौदे के बाद ईओडब्ल्यू के निशाने पर आया। सुरेश उपाध्याय ने अपने अपनी नौकरी में वेतन के तौर पर 53.26 लाख रुपये प्राप्त किए थे। इसमें 33 प्रतिशत परिवार खर्च के तौर पर 17.57 लाख व्यय किया होगा।

Retired PHE officer

 

3.86 करोड़ के खरीदे लग्जरी वाहन
रिडायर्ड एसडीओ ने लग्जरी वाहनों को खरीदने पर 3.86 करोड़ रुपये खर्च किए। इसके साथ ही पत्नी अनुराधा ने आयकर रिटर्न में कुल 1.14 करोड़ और बेटे सचिन ने आय 5.08 लाख दिखाई है। ऐसे में सवाल है कि फिर ये चार सौ करोड़ रुपये की संपत्ति कहां से आई।

Retired PHE officer

 

सात सालों में खरीदी खूब संपत्ति
रिटायर्ड एसडीओ सुरेश उपाध्याय पीएचई में अगस्त 1978 में ज्वाइन किए थे और 2014 में रिटायर्ड हुए। 36 साल की नौकरी के बाद उनके पास से मिली अकूत संपत्ति से टीम भी भौंचक रह गई। सारी प्रॉपर्टी वर्ष 2006 से 2013 के बीच खरीदी गई है। सुरेश उपाध्याय के नाम छह एकड़, बेटे सचिन उपाध्याय के नाम 18 एकड़ और पत्नी अऩुराधा उपाध्याय के नाम पर तीन एकड़ कृषि भूमि भी मिली है।

Retired PHE officer

 

बीजेपी नेताओं से हैं अच्छे संबंध
सुरेश उपाध्याय की पत्नी अऩुराधा उपाध्याय बीजेपी नेत्री और पूर्व पार्षद है। इस वजह से उपाध्याय के बीजेपी नेताओं से अच्छे संबंध भी हैं। इसके साथ ही वह अपने राजनीतिक रसूख का फायदा भी उठाता रहा है। बताया जाता है कि भाजपा के कई बड़े नेताओं से उसकी अच्छी सांठगांठ हैं।

Retired PHE officer


ऐसे बनाता था माल
नौकरी में रहते हुए सुरेश उपाध्याय ट्यूबवेल खुदवाने का काम करता था। 100 से 200 फीट की खुदाई को 300 से 400 फीट का बताकर भुगतान उठाता था। इसी में जमकर कमीशन का खेल हुआ। कई बार तो बिना खुदवाए ही पैसे निकाल लेता था।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned