एससी-एसटी एक्ट के विरोध में उतरे 250 संगठन, भाजपा कांग्रेस की बढ़ाई मुसीबत

एससी-एसटी एक्ट के विरोध में उतरे 250 संगठन, भाजपा कांग्रेस की बढ़ाई मुसीबत

Lalit Kumar Kosta | Publish: Sep, 05 2018 10:47:05 AM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

भाजपा कांग्रेस की बढ़ाई मुसीबत

जबलपुर. सामान्य व पिछड़ा वर्ग में बड़ी संख्या में ऐसे परिवार हैं जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं। उनको अपने बच्चों को शिक्षा दिलाना भी मुश्किल हो रहा है। बीमार होने पर उनके लिए इलाज नसीब नहीं हो पाता है। आर्थिक आधार पर आरक्षण की व्यवस्था लागू की जाना आवश्यक है। ये बात राष्ट्रीय आरक्षण पीडि़त वर्ग मोर्चा के आनंद मोहन पाठक ने मंगलवार को आयोजित प्रेस वार्ता में कही। उन्होंने कहा कि एससी/एसटी अध्यादेश लाकर देश की 78 फीसदी आबादी के साथ अन्याय व धोखा किया गया है। जिसके खिलाफ में 6 सितंबर को जबलपुर बंद का आह्वान किया गया है। बंद को मोर्चा के 154 संगठनों के साथ ही प्रदेश व देश के 109 संगठनों ने समर्थन दिया है। जानकारों का मानना है कि ये विरोध प्रदर्शन दोनों प्रमुख पार्टियों भाजपा व कांग्रेस के लिए आने वाले दिनों में मुसीबत बन सकती हैं।

सुधीर नायक ने कहा कि भारत लोकतांत्रिक देश है, जहां प्रत्येक नागरिक को समान अधिकार प्राप्त हैं। लेकिन सरकार ने एसीएसटी एक्ट पर अध्यादेश लाकर भारतीय संविधान के अनुच्छेद 15-16 पर कुठाराघात किया है। मोर्चा के अमित खंपरिया ने बताया कि बंद के दौरान स्कूल, कॉलेज, बैंक, बाजार, पेट्रोल पंप, ऑटो रिक्शा, वैन, बस, ट्रक बंद रहेंगे। इमरजेंसी सेवाओं पर बंद का असर नहीं पड़ेगा। आनंद ज्योतिषी ने कहा कि हजारों अधिवक्ताओं ने एक दिन के लिए अपना काम बंद रखने का निर्णय लिया है।

दीपक पचौरी, अरुण मिश्रा ने बताया कि बंद में बस-ट्रक एसोसिएशन, ऑटो-वैन संघ, महाकोशल चैम्बर ऑफ कॉमर्स, सपाक्स संगठन,अखिल भारतीय क्षत्रीय महासभा, करणी सेना, जय राजपुताना संघ, कायस्थ महासभा, विश्वकर्मा महासंगठन, राष्ट्रीय सेन समाज, अनारक्षित समाज,राष्ट्र वाहिनी सेना, भारतीय राष्ट्रवादी समानता पाटी, राष्ट्रीय सवर्ण संघ, हिंगलाज सेना, रेवाखंड परिषद्, समानता परिषद्, उदय भारत मोर्चा, विप्र गर्जना मंच, अंतरराष्ट्रीय हिन्दू सेवा परिषद्, सवर्ण एकता मंच आदि संगठन शामिल होंगे। इस दौरान शैलेन्द्र सिंह ठाकुर, राजेश तिवारी, अशोक तिवारी, संदीप दुबे मौजूद थे।

यहां भी होगा प्रदर्शन
केंद्र सरकार की ओर से एसटी-एक्ट को लेकर किए गए हालिया संशोधन के खिलाफ गुरुवार को शहर बंद कराया जाएगा। यह घोषणा राष्ट्रीय आरक्षण पीडि़त वर्ग मोर्चा, सवर्ण सेना, ब्राम्हण महासभा ने मंगलवार को की। सवर्ण सेना के जिलाध्यक्ष हरि त्रिपाठी ने गुरुवार को अभिभावकों से बच्चों को स्कूल न भेजने का आग्रह किया है। मप्र प्रगतिशील ब्राहम्ण महासभा की मंगलवार को शतक्रतु आश्रम में बैठक हुई। बैठक में एससी-एसटी एक्ट के संसद में पारित किए गए संशोधन विधेयक को ब्राम्हण, सवर्ण, पिछड़ा वर्ग के लिए दमनकारी बताया।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned